पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने इंदौर में सभा को किया संबोधित, मंत्रियों की खरीदारी पर की खुलकर बात

कोरोना में संजय शुक्ला ने बहुत अच्छा काम किया है। धार्मिक गतिविधियों से भी हमेशा जुड़े रहे और इंदौर के बेटे हैं। आप याद रखेंगे नगर निगम, विधानसभा या लोकसभा का नहीं बल्कि यह आपके भविष्य का चुनाव है।

इंदौर में नगर निगम चुनाव की तस्वीर एकदम साफ हो गई। कांग्रेस ने संजय शुक्ला को प्रत्याशी बनाया है, तो वहीं भाजपा ने पुष्यमित्र भार्गव को प्रत्याशी घोषित किया है। कांग्रेस प्रत्याशी ने बुधवार को नामांकन दाखिल किया गया, समर्थन में पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ भी इंदौर पहुंचे और जनसभा को संबोधित किया। आपको बता दें संजय शुक्ला ने दोपहर को नामांकन फॉर्म जमा करने कलेक्टर ऑफिस पहुंचे। इस दौरान पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा, विनय बाकलीवाल और सौरभ मिश्रा के साथ अन्य कार्यकर्ता उपस्थित थे।

इस दौरान पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहां की संजय शुक्ला सबसे बेहतर उम्मीदवार है उनसे अच्छा उम्मीदवार कोई ओर हो ही नहीं सकता। अगर मेरा बस चलता तो इन्हें छिंदवाड़ा ट्रांसफर कर दूं। कोरोना में संजय शुक्ला ने बहुत अच्छा काम किया है। धार्मिक गतिविधियों से भी हमेशा जुड़े रहे और इंदौर के बेटे हैं। आप याद रखेंगे नगर निगम, विधानसभा या लोकसभा का नहीं बल्कि यह आपके भविष्य का चुनाव है। क्योंकि 15 साल बाद मुझे प्रदेश मिला और तब प्रदेश में भ्रष्टाचार, गुंडागर्दी का बोलबाला था। कमलनाथ ने आगे कहा कि मेट्रो प्रोजेक्ट को भाजपा अपना बता रही हैं। लेकिन केंद्र में रहते हुए मैंने ही उसे हरी झंडी दी थी। भाजपा सिर्फ झूठे वादे करती हैं। लेकिन अब आपको सभी वार्ड में कांग्रेस प्रत्याशी को ही वोट देकर विजय बनाना है। मंदिर- मस्जिद  की लड़ाई से प्रदेश  और देश का विकास नहीं हो सकता। इस दौरान कमालनाथ ने मंत्रियों की खरीदारी को लेकर भी अपनी बात रखी।

Must Read- पद्मश्री पाटोदी की जन्मजयंती पर पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने अतुल्य योगदान को स्मरण करते हुए याद कर किया माल्यार्पण


पूर्व मुख्यमंत्री व प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष कमलनाथ आज इंदौर आए। इस दौरान स्वतंत्रता सेनानी, पूर्व विधायक, पूर्व नगर निगम अध्यक्ष, समाजसेवी व कांग्रेस के वरिष्ठ नेता रहे पद्मश्री बाबूलाल पटौदी की जन्मजयंती पर इंदौर गोम्मटगिरी पर स्थित प्रतिमा पर माल्यार्पण कर उन्हें याद किया। इस दौरान राजनीतिक, धार्मिक, स्वास्थ्य, विद्या व सामाजिक क्षेत्र में अतुल्य योगदान को याद किया।