दो भारतीयों की गिरफ्तारी पर विदेश मंत्रालय गंभीर, कहा- पाकिस्तान इन्हें न बनाए शिकार

0
71

नई दिल्ली। पाकिस्तान में पिछले दिनों दो भारतीय नागरिकों को अवैध धुसपैठ के आरोप में गिरफ्तार किए जाने के मामले में विदेश मंत्रालय ने गंभीरता दिचााई है। मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने गुरूवार को कहा कि हमे जानकारी मिली है कि दो भारतीय नागरिक 2016-17 में अनजाने में पाकिस्तान की सीमा में चले गए थे। उस दौरान हमने पाकिस्तानी अधिकारियों को सूचित किया था। इसके बाद हमें उनकी तरफ से कोई प्रतिक्रिया प्राप्त नहीं हुई। अचानक उनकी गिरफ्तारी की घोषणा किया जाना हमारे लिए आश्चर्य का विषय है।

रवीश कुमार ने कहा कि, हमें उम्मीद है कि प्रशांत और बारी लाल का इस्तेमाल पाकिस्तान अपने दुष्प्रचार के लिए नहीं करेगा और ये उनके शिकार नहीं होंगे। हमने इसे लिए पाकिस्तान से संपर्क किया है। साथ ही उन्हे तत्काल राजनयिक पहुंच देने का अनुरोध किया है।

बता दे कि पाकिस्तान में दो भारतीय नागरिकों को गिरफ्तार किया गया है। इन पर अवैध घुसपैठ का आरोप है। इनकी पहचान मध्य प्रदेश के प्रशांत और तेलंगाना के बारी लाल के रूप में की गई है। खबरों की माने तो इन दोनों नागरिकों द्वारा पाकिस्तान में अवैध रूप से घुसपैठ की कोशिशें की जा रही थी। इन्हे पंजाब प्रांत के पूर्वी शहर बहावलपुर से हिरासत में लिया गया था। स्थानीय पुलिस का दावा है कि इनके पास पर्याप्त दस्तावेज नहीं थे।

बताया जा रहा है कि इन दोनों में से प्रशांत वेनधाम तेलंगाना का सॉफ्टवेयर इंजीनियर है। वेनधाम के परिजनों ने कहा है कि प्रशांत साल 2017 से ही लापता है। टीवी के जरिए पाकिस्तान में उसके पकड़े जाने की खबर मिलने के बाद परिवार ने उसे पहचाना था। 31 वर्षीय प्रशांत माधापुर में शोर इन्फो टेक कंपनी में कार्यरत था। प्रशांत के पिता का कहना है कि मेरा बेटा 11 अप्रैल, 2017 को सुबह नौ बजे दफ्तर के लिए निकला और घर नहीं लौटा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here