गुजरात से लेकर महाराष्ट्र तक बाढ़ का कहर जारी, जनजीवन हुआ प्रभावित

महाराष्ट्र्र, गुजरात समेत कई राज्यों में भारी बारिश के बाद बाढ़ जैसे हालात पैदा हो गए हैं.

महाराष्ट्र्र, गुजरात समेत कई राज्यों में भारी बारिश के बाद बाढ़ जैसे हालात पैदा हो गए हैं. गुजरात में अब तक 60 से अधिक लोगों की जान जा चुकी है, तो महाराष्ट्र में 10 जुलाई तक बारिश और बाढ़ से मरने वालों की संख्या 83 हो गई है. सिर्फ इन दोनों राज्यों में ही कुल मिलाकर अब तक 140 से अधिक लोगों की बारिश और बाढ़ के चलते जान जा चुकी है. उधर, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश, मध्य प्रदेश में भी भारी बारिश का दौर जारी है. इन राज्यों में मॉनसून की एंट्री के बाद से ही तेज बरसात हो रही है, जिससे कुछ इलाकों में पानी भर गया और लोगों का जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया. राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली की बात करें तो सोमवार दोपहर को कुछ इलाकों में तेज बारिश जरूर हुई, लेकिन अब भी दिल्लीवासी मॉनसून की झमाझम बारिश का इंतजार कर रहे हैं.

Also Read – कहीं बाढ़ तो कहीं इंतेज़ार, मानसून ने दिखाए अलग अलग तेवर, जानिए अपने शहर के मौसम का हाल

गुजरात में हो रही भारी बारिश के चलते 13 जुलाई के एनडीए की राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू का स्टैच्यू ऑफ यूनिटी का कार्यक्रम भी रद्द कर दिया गया है. 13 जुलाई को मुख्यमंत्री, सांसद और बीजेपी के सभी विधायकों का कार्यक्रम यहां रखा गया था, लेकिन भारी बारिश की वजह से इसे रद्द कर दिया गया

गुजरात में बाढ़ जैसे हालात को लेकर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने राज्य के मुख्यमंत्री से बात की. अमित शाह ने ट्वीट कर कहा, ”गुजरात के विभिन्न क्षेत्रों में भारी बारिश के चलते उत्पन्न हुई बाढ़ जैसी परिस्थितियों के संदर्भ में मैंने मुख्यमंत्री जी से बात की और मोदी सरकार की ओर से हर संभव मदद का आश्वासन दिया. गुजरात प्रशासन, SDRF व NDRF प्रभावित लोगों तक त्वरित मदद पहुंचाने में लगे हैं.”