इंजीनियर ने ली सरपंच पद की शपथ, बड़ी कंपनियों के लाखों रूपए के पैकेज को छोड़कर लिया सेवा का संकल्प

गांव के युवा राजा ने चुनाव लड़ा तो गांव वालों ने उन्हें भारी मतो से विजयी बनाया। आजादी के बाद से पहली बार बजरंग पालिया गांव से पहली बार कोई युवा सरपंच बना है।

इंदौर। बजरंग पालिया गांव को अब एक उच्च शिक्षित सरपंच मिला है। बड़ी कंपनियों के लाखों रूपए के पैकेज को छोड़कर इंजीनियर रविसिंह चौहान राजा ने गांव वालों की सेवा का रास्ता चुना। गांव के युवा राजा ने चुनाव लड़ा तो गांव वालों ने उन्हें भारी मतो से विजयी बनाया। आजादी के बाद से पहली बार बजरंग पालिया गांव से पहली बार कोई युवा सरपंच बना है। सरपंच राजा के स्वागत में रैली भी निकली, जिसमें मतदाताओं ने उन्हें दिल से आशीर्वाद दिया।
बजरंगपालिया गांव के पंचायत भवन में अब पहली बार कोई इंजीनियर सरपंच की कुर्सी पर बैठेगा।

पंचायत भवन में ग्रामीणों ने और रविसिंह चौहान राजा भैया को चाहने वालों ने उनका स्वागत किया। ग्राम पंचायत बजरंग पालिया सरपंच रविसिंह चौहान (राजा), उपसरपंच महेश नोयला, सचिव अशोक सोलंकी, लाखन चोधरी, विकास चोधरी, सुनील शर्मा, मुकेश शर्मा, अमर पटेल, धर्मेन्द्र, जितेंद्र, मनोहर, पवन, सतीश, लाखन, निखिल, राहुलसिंह चौहान मौजूद रहे। शानदार तरीके से गांव वालों ने अपने इंजीनियर पढ़े-लिखे सरपंच का स्वागत किया।

Must Read- इंदौर: पुष्यमित्र भार्गव ने ली महापौर पद की शपथ, नगरीय विकास मंत्री भूपेंद्र सिंह रहे शामिल

रविसिंह चौहान ने पूजा-पाठ करके अपने पदभार को ग्रहण किया और सरपंच पद की शपथ ली। सरपंच रविसिंह चौहान ने मीडिया से विशेष चर्चा की। उन्होंने बताया कि वे हर गरीब का पक्का मकान बनवाना चाहते हैं। गांव की हर समस्या को दूर करेंगे। बजरंग पालिया पंचायत को पूरे देश में आदर्श गांव, आदर्श पंचायत बनवाने के लिए पूरा प्रयास करेंगे।