आर्थिक मंदी : देश का आयात-निर्यात गिरा, अरबों का लगा चूना

0
52

नई दिल्ली। आर्थिक मंदी का असर देश की अर्थव्यवस्था पर दिखाई देने लगा है। वहीं जीडीपी में लगातार गिरावट के बाद आरबीआई, एसबीआई और मूडीज जैसी अन्य आर्थिक मामलों से जुड़ी संस्थाओं ने भारत की विकास दर का अनुमान घटा दिया है। हालांकि मोदी सरकार द्वारा आर्थिक मंदी से निपटने के लिए कई उपाय किए हैं, लेकिन उनका असर दिखाई नहीं दे रहा है। इसी बीच मोदी सरकार को एक बड़ा झटका लगा है।

देश के आयात-निर्यात में नवंबर माह के दौरान निर्यात में मामूली गिरावट हुई, जबकि आयात 12 प्रतिशत से अधिक घट गया है। इस साल नवंबर में भारत का निर्यात पिछले साल के इसी महीने के 26.07 अरब डॉलर से घटकर 25.98 अरब डॉलर रह गया। पिछले महीने के अक्टूबर के मुकाबले भी नवंबर में निर्यात कम हुआ है। अक्टूबर में भारत ने 26.38 अरब डॉलर मूल्य के वस्तुओं का निर्यात किया था। हालांकि पेट्रोलियम और रत्नाभूषणों के अलावा अन्य वस्तुओं का निर्यात नवंबर में पिछले साल के इसी महीने से 4.08 फीसदी बढ़कर 19.31 अरब डॉलर हो गया।

पिछले साल नवंबर में इन वस्तुओं का निर्यात 18.55 अरब डॉलर का हुआ था। आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार, आयात नवंबर में पिछले साल के इसी महीने से 12.71 फीसदी घटकर 38.11 अरब डॉलर रह गया है, जो पिछले साल नवंबर में आयात 43.66 अरब डॉलर था। तेल का आयात की बात करें तो इस साल नवंबर में 11.06 अरब डॉलर का हुआ, जोकि पिछले साल इसी महीने में 13.52 डॉलर मूल्य का आयात हुआ था। इस प्रकार तेल के आयात में डॉलर के मूल्य में पिछले साल के मुकाबले 18.17 फीसदी की कमी आई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here