पड़ोसी देश पाकिस्तान पर गहराता जा रहा है आर्थिक संकट, फिर से चुनाव करने की मांग कर रहे है- पूर्व पीएम इमरान

भारत के पड़ोसी देश पाकिस्तान पर आर्थिक संकट गहराता जा रहा है। इसी के बीच पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान ने शहबाज शरीफ से चुनाव करने की मांग कर कर रहें है।

भारत के पड़ोसी देश पाकिस्तान पर आर्थिक संकट गहराता जा रहा है। इसी के बीच पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान ने शहबाज शरीफ से चुनाव करने की मांग कर कर रहें है। इससे पाकिस्तान में चल रहे आर्थिक संकट और राजनीतिक संकट को दूर किया जा सकता है। आर्थिक परिस्थियों से झुज रहे देश को जल्द मुक्त कराया जा सकता है।

पाकस्तान तहरीक-ए इंसाफ पार्टी के प्रमुख इमरान खान ने शहबाज शरीफ की सरकार से देश में जल्द चुनाव कराने की मांग की है। अगर ऐसा नहीं होता है तो देश को भारी नुकसान उठाना पड़ा सकता है। देश में श्रीलंका जैसा माहौल बना सकता है।

Also Read : जाह्नवी कपूर ने अपने Ex बॉयफ्रेंड को लेकर कह दी ये बड़ी बात, सुनते ही हो जाएंगे हैरान

पूर्व पीएम इमरान के अनुसार, पाकिस्तान में चल रहे आर्थिक और राजनीतिक संकट को खत्म करने के लिए देश में जल्द चुनाव करने की मांग कर रहे है। इससे देश में संकट में सुधार होने की बात कही है।

इमरान ने चुनाव आयोग पर निशाना साधते हुए कहा कि, चुनाव इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन से होना चाहिए। इससे देश में व्यापक भ्रष्टाचार को ख़त्म किया जा सकता है। लेकिन चुनाव आयोग इस प्रक्रिया से चुनाव करने के खिलाफ है।

इमरान खान ने देश की जनता को संबोधित करते हुए कहा कि पाकिस्तान की जनता एक राष्ट्र के रूप में तब्दील हो गई है। उन्होंने इसके साथ ही कहा कि जिस तरह से सत्तारूढ़ दल की ओर से हमारे खिलाफ रणनीति बनाई गई और इनके बावजूद पीटीआई सफलतापूर्वक सामने आई, यह एक चमत्कार है। उन्होंने दावा किया कि जब वह सत्ता में थे तो पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था ठीक ओर जा रही थी। उन्होंने इस दौरान शक्तिशाली लोगों को भी इसे लेकर चेतावनी दी थी।

इमरान खान ने कहा है कि उनकी सरकार के दौरान पाकिस्तान कृषि क्षेत्र में भी काफी तरक्की कर रहा था। देश की सभी चार प्रमुख फसलों का उत्पादन भी बेहद अच्छा हो रहा था। जिस तरह से उनकी सरकार कोविड-19 से उपजे हालात से निपटी थी, उसकी प्रशंसा अंतरराष्ट्रीय संगठनों ने भी की थी. उन्होंने कहा, ‘मेरी सरकार के दौरान पाकिस्तान ऊंचाई पर जा रहा था, इसीलिए हमारी सरकार के खिलाफ साजिश रची गई।’

वहीं पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ ने बुधवार को न्यायपालिका पर निशाना साधते हुए कुछ न्यायाधीशों पर उनकी गठबंधन सरकार के प्रति दोहरा मापदंड अपनाने का आरोप लगाया है। उच्चतम न्यायालय ने एक दिन पहले शहबाज शरीफ के बेटे हमजा शरीफ को राजनीतिक रूप से महत्वपूर्ण और सबसे अधिक आबादी वाले पंजाब प्रांत के मुख्यमंत्री पद से हटा दिया था, जिसके बाद उन्होंने यह टिप्पणी की। उच्चतम न्यायालय ने मंगलवार को फैसला सुनाया था कि पाकिस्तान मुस्लिम लीग-कायद (पीएमएल-क्यू) के नेता परवेज इलाही पंजाब के नए मुख्यमंत्री होंगे।