धार: कारम बांध मामले की जांच के लिए बनाई गई कमेटी, कांग्रेस ने साधा शिवराज सरकार पर निशाना

कारम बांध क्षतिग्रस्त मामले की जांच के लिए 4 सदस्यीय कमेटी का गठन किया गया है.

धार: मध्य प्रदेश के धार में कारम नदी पर बने 304 करोड़ के डैम के क्षतिग्रस्त होने के मामले में जांच कमेटी का गठन कर दिया गया है. 15 अगस्त को मामले की जांच के लिए चार सदस्यों की एक कमेटी बनाई गई है. टीम को 5 दिनों के अंदर पूरे मामले की रिपोर्ट सौंपनी है. रिपोर्ट में बांध के क्षतिग्रस्त होने की वजह, निर्माण की गुणवत्ता व जिम्मेदार अधिकारियों की भूमिका की जांच की जाने वाली है.

इस जांच कमेटी में आशीष कुमार अपर सचिव जल संसाधन विभाग की अध्यक्षता में जल संसाधन चीफ इंजीनियर दीपक सातपुते, संचालक अनिल सिंह को बांध की सुरक्षा जांच का जिम्मा दिया गया है. भविष्य में दोबारा ऐसी घटना ना हो इसके लिए जांच में जिम्मेदार अधिकारियों की भूमिका की भी जांच करने के निर्देश दिए गए हैं.

Must Read- Monsoon Update: मध्यप्रदेश में लगातार हो रही है बारिश, उफान पर नदी-नाले, जारी हुआ अलर्ट

दूसरी और निर्माणाधीन बांध में हुए भ्रष्टाचार को लेकर कांग्रेस प्रवक्ता नरेंद्र सलूजा ने शिवराज सरकार पर निशाना साधा है. सलूजा ने ट्वीट करते हुए लिखा कि 304 करोड़ पर पानी में बह गए लेकिन भाजपा जश्न मना रही है. कोई भी यह बताने को तैयार नहीं है कि आखिर कार्य स्थिति कैसे बनी, घटिया निर्माण कैसे होने दिया गया और भ्रष्टाचार की राशि कौन डकार गया. भारद्वाज किस मंत्री का खास है, मामा के किस करीबी को मोटी रकम दी गई है. नरेंद्र सलूजा ने यह सवाल किया कि 304 करोड़ का बांध टूटा जिसकी रिपेयरिंग में सरकार ने डेढ़ करोड़ खर्च किए, जबकि नुकसान 50 करोड़ से ज्यादा का हुआ है. इस बांध से 42 गांव के किसानों को पानी मिलना था, जो बह चुका है. सरकार को इन सभी सवालों के जवाब देना होंगे.