दिल्ली : एलजी ने कसा केजरीवाल पर शिकंजा, शराब लाइसेंसधारियों को अनुचित लाभ देने के हैं आरोप

दिल्ली में एलजी विनय कुमार सक्सेना के द्वारा राज्य के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की नई एक्साइज नीति के खिलाफ सीबीआई जांच की सिफारिश की गई है। अरविंद केजरीवाल सरकार पर उनकी नई नीति के अनुसार शराब लाइसेंसधारियों को अनुचित तरीके से आर्थिक लाभ पहुंचाने का आरोप लगाया गया है। मुख्य सचिव की रिपोर्ट के बाद एलजी ने की सीबीआई जांच की सिफारिश

दिल्ली (Delhi) में एलजी विनय कुमार सक्सेना के द्वारा राज्य के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) की नई एक्साइज नीति के खिलाफ सीबीआई जांच की सिफारिश की गई है। एलजी विनय कुमार सक्सेना के द्वारा अरविंद केजरीवाल सरकार पर उनकी नई नीति के अनुसार शराब लाइसेंसधारियों को अनुचित तरीके से आर्थिक लाभ पहुंचाने का आरोप लगाया गया है। केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI ) द्वारा जाँच से इस मामले की सत्यता का पता लगाने का आग्रह एलजी के द्वारा किया गया है।

Also Read-श्रीलंका : दिनेश गुणवर्धने बने देश के नए प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति रानिल विक्रमसिंघे के रह चुके हैं सहपाठी

मुख्य सचिव की रिपोर्ट के बाद एलजी ने की सीबीआई जांच की सिफारिश

जानकारी के अनुसार मुख्य सचिव की रिपोर्ट के बाद एलजी वीके सक्सेना ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की नई एक्साइज नीति के खिलाफ सीबीआई जांच की सिफारिश की है। इस रिपोर्ट में कहा गया है कि नई एक्साइज पॉलिसी में केजरीवाल सरकार के द्वारा वांछित नियमों को ताक पर रखकर शराब लाइसेंसधारियों को लाभ पहुंचाने के लिए अनुचित तरिके से टेंडर दिए गए हैं।

Also Read-सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन : सीबीएसई 12 वीं का परीक्षा परिणाम हुआ घोषित, छात्राओं ने फिर पछाड़ा छात्रों को

पिछले वर्ष लागू हुई थी दिल्ली में नई एक्साइज नीति

दिल्ली में अरविंद केजरीवाल सरकार द्वारा पिछले वर्ष 2021 में अपनी नई एक्साइज नीति लागू की गई थी। नई एक्साइज नीति के अंतर्गत निजी संचालकों को ओपन टेंडर से खुदरा शराब बिक्री के लाइसेंस जारी किए गए थे। नई एक्साइज नीति लागू होने के बाद दिल्ली में कुल 650 शराब दुकाने खुल चुकी हैं। वहीं दिल्ली सरकार का कहना था कि नई नीति से सरकार के राजस्व में वृद्धि होगी, जबकि भारतीय जनता पार्टी के द्वारा केजरीवाल सरकार की इस नई आबकारी नीति का विरोध किया गया था ।