Valentine Day पर लगा कोरोना वायरस का ग्रहण, चौपट हुआ बाजार

कोरोना वायरस ने पूरी दुनिया में कोहराम मचा रखा है। चीन में तो इस वायरस ने महामारी का रूप ले लिया है। एक तरफ तो इसको लेकर लोगों में खौफ है वहीं दूसरी तरफ प्यार का इजहार करने वाले दिन चल रहे हैं। ऐसे में लोगों के मन में कोरोना का दर ऐसा भरा हुआ है कि वैलेंटाइन डे भी फिका रह गया।

rose day special song-min

कोरोना वायरस ने पूरी दुनिया में कोहराम मचा रखा है। चीन में तो इस वायरस ने महामारी का रूप ले लिया है। एक तरफ तो इसको लेकर लोगों में खौफ है वहीं दूसरी तरफ प्यार का इजहार करने वाले दिन चल रहे हैं। ऐसे में लोगों के मन में कोरोना का दर ऐसा भरा हुआ है कि वैलेंटाइन डे भी फिका रह गया।

corona virus

दरअसल, कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या 1500 के पार हो गई है। ऐसे में लोगों को इतना खौफ मन में बैठ गया है कि लोग किसी के पास जाने में भी डर रहे हैं। इस वजह से इस वायरस का असर वैलेंटाइन डे पर भी देखा गया है।

बता दे, चीन में प्यार के त्योहार लेंटाइन डे पर फूलों की बिक्री पिछले वर्षों के मुकाबले काफी कम हुई है। ख़बरों के मुताबिक, वैलेंटाइन डे की पूर्व संध्या पर शंघाई शहर में एक फूल विक्रेता ली यूकांग को किसी भी ग्राहक की उम्मीद नहीं है। पूर्वी चीन के जिआंगसु प्रांत के 36 वर्षीय दुकानदार ने कहा कि हम 12 साल से फूल बेचने का काम कर रहे हैं।

love tips

मेरी पत्नी और मैंने कभी वैलेंटाइन डे नहीं मनाया, क्योंकि हमारे लिए आमतौर पर यह साल का सबसे व्यस्त दिन होता है। हमें पूरी रात फूलों को व्यवस्थित करना और इनकी पैकेजिंग करनी होती है। पिछले वर्षों में वैलेंटाइन सप्ताह के दौरान फूलों की इतनी मांग होती थी कि कर्मचारियों को रातभर काम पर लगे रहना होता था। मगर इस साल ली के कर्मचारियों ने काम शुरू ही नहीं किया है।

rose

वायरस के डर से कर्मचारी अभी भी अपने घरों में कैद होकर रह गए हैं। बता दे, इस साल ली को लगभग 50 ऑर्डर मिले, जोकि सभी ऑनलाइन ऑर्डर हैं, जबकि पिछले सालों में उनके पास 500 से ज्यादा ऑर्डर आए थे। ली ने आगे कहा कि हर कोई घर पर रहना चाहता है, अगर कोई अपने साथी को घर पर ही सीमित रखता है तो कोई फूल क्यों खरीदेगा? लेकिन ली ने यह भी बताया कि इस साल उन्होंने थोक बाजार से बहुत अधिक खरीद नहीं की, क्योंकि उन्हें पहले से ही आशंका थी कि इस बार अधिक फूल नहीं बिकेंगे।