रेलमंत्री पीयूष गोयल पर लगे भ्रष्टाचार के आरोप, कांग्रेस ने मांगा इस्तीफा

0
163

नई दिल्ली : कांग्रेस ने मोदी सरकार में रेलमंत्री पीयूष गोयल को बर्खास्त करने के मांग की है. पीयूष गोयल पर आरोप लगाते हुए कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने कहा कि, पीयूष गोयल के व्यावसायिक रिश्तों पर बार-बार नये-नये तथ्य सामने आते हैं. आखिर पीयूष गोयल अपने वाणिज्यिक हितों को लोगों से क्यों छुपा रहे है?Related image2014 में प्रधानमंत्री जी ने कहा था कि उनकी पूरी कैबिनेट 48 घंटे में अपनी संपत्ति की घोषणा करेगी और घोषणा करने वालों में पीयूष गोयल जी भी सामने आये, लेकिन महत्वपूर्ण तथ्य उन्होंने देश, पीएमओ और देश की संसद से छुपा लिए : पवन खेड़ा

26 मई 2014 को पीयूष गोयल ने नई और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्री के रूप में शपथ ली थी. शपथ लेने के 4 महीने बाद पीयूष गोयल ने अपनी और उनकी पत्नी की एक अस्पष्ट फर्म को पिरामल ग्रुप को लगभग 1000% प्रीमियम पर बेच दिया : पवन खेड़ा

लगभग 11 करोड़ की कंपनी को 48 करोड़ में क्यों खरीद रहे हैं? और ये पूरा 48 करोड़ गोयल परिवार को प्राप्त हो गया : पवन खेड़ाImage result for narendra modi and piyush goyalपीयूष गोयल जी आसन पर बैठे हैं और मोदी जी सिंहासन पर बैठे हैं इसलिये पीरामल समूह ने कंपनी का नाम बदलकर ‘आसन इन्फो सलूशन प्राइवेट लिमिटेड’ कर दिया और फिर पूरा पीरामल परिवार इसके निदेशक पद से इस्तीफ़ा दे देता है. आखिर क्यों? : पवन खेड़ा

पीयूष गोयल ने न केवल तथ्यों को छुपाया है, बल्कि सच्चाई के साथ खेला है. पीरामल ग्रुप ने पीयूष गोयल की कंपनी फ्लैशनेट को 1000% प्रीमियम के साथ क्यों खरीदा था जबकि कंपनी नुकसान में थी : पवन खेड़ा

अपनी सरपरस्ती वाली कंपनी को महंगे दाम पर मंत्री जी ऐसे समूह को बेच देते हैं जिनका उनके मंत्रालय से हित जुड़ा होता है, अब इसका प्रधानमंत्री जी को जवाब तो देना ही होगा : पवन खेड़ा

प्रधानमंत्री की वेबसाइट पर पीयूष गोयल जी ने इस बारे में जानकारी क्यों नहीं दी? क्या प्रधानमंत्री जी अपने वरिष्ठ मंत्री से सवाल पूछेंगे? : पवन खेड़ा

एक बार और प्रधानमंत्री जी की विश्वसनीयता की परीक्षा हो रही है; क्या प्रधानमंत्री जी पीयूष गोयल जी से इस्तीफ़ा लेंगे? : पवन खेड़ा

10 रुपये का शेयर 9990 रुपये में पीयूष गोयल जी की कंपनी ने पीरामल समूह को बेच दिया. यदि प्रधानमंत्री जी अपने वरिष्ठ मंत्री और भाजपा कोषाध्यक्ष श्री पीयूष गोयल को तुरंत बर्खास्त नहीं करते और निष्पक्ष जांच का आदेश नहीं देते तो ये साफ़ हो जाएगा कि उनका असली नारा ‘खाऊंगा और खिलाऊंगा’ है : पवन खेड़ा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here