इंदौर(Indore) : मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने 17वें प्रवासी भारतीय दिवस में भाग लेने इंदौर आए अतिथियों का आत्मीय स्वागत करते हुए कहा कि इंदौरवासियों ने आपके भावभीने स्वागत के लिए पूरे शहर को रंगोली और विद्युत साज-सज्जा से जगमगाया है। इंदौर ने आपके लिए पलक पावड़े बिछाएँ हैं। मैं प्रदेश की ओर से आपका स्वागत करता हूँ। मध्यप्रदेश, देश का दिल है और आप हमारे दिल के टुकड़े हैं। अतिथि देवो भव की भावना के साथ मध्यप्रदेश में आपका स्वागत है।

प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी सारी दुनिया को अपना परिवार मानते हैं। आजादी के अमृत काल में भारत की प्रगति के लिए प्रवासी भारतीय विश्वसनीय भागीदार हैं। प्रवासी भारतीयों ने अपनी गतिशीलता, कड़ी मेहनत और व्यवहार से पूरी दुनिया में भारत का डंका बजाया है, अलग विलक्षण पहचान दी है, इसीलिए मैं आपका सम्मान करता हूँ। मुख्यमंत्री  चौहान, आज इंदौर में युवा प्रवासी भारतीय दिवस के उद्घाटन सत्र को संबोधित कर रहे थे।

मुख्यमंत्री  चौहान के साथ केन्द्रीय विदेश मंत्री डॉ. एस. जयशंकर, केन्द्रीय युवा एवं खेल मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर, आस्ट्रेलिया की सांसद  ज़ेनिटा मेस्कानरेन्हास ने इंदौर के ब्रिलियंट कन्वेंशन सेंटर में दीप प्रज्ज्वेलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री  नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारत ने स्वच्छता, मेक इन इंडिया, डिजिटल इंडिया, स्किल इंडिया के क्षेत्र में गतिविधियों से विश्व में विशेष स्थान बनाया है। ज्ञान-शक्ति और अर्थ-शक्ति के साथ आत्म-निर्भर भारत का निर्माण जारी है।

मुख्यमंत्री  चौहान ने युवाओं को नवाचार और तकनीक के क्षेत्र में निरंतर आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करते हुए कहा कि निश्चित लक्ष्य, कठोर परिश्रम, धैर्य के साथ चुनौतियों का सामना करते हुए आगे बढ़ने का साहस रखने से ही सफलता मिलती है। गूगल, मास्टर कार्ड, एबोड, माइक्रोसॉफ्ट जैसी तकनीक प्रधान संस्थाओं का संचालन भारतीय युवाओं के हाथों में है। सुंदर पिचाई, इंदिरा नूई जैसे लोगों ने सफलता का नया इतिहास रचा है। भारतीय युवाओं ने तकनीक और नवाचार के दम पर दुनिया में अपना लोहा मनवाया है।

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि मध्यप्रदेश 19.76 प्रतिशत की विकास दर के साथ लगातार आगे बढ़ रहा है। हम शीघ्र ही युवा नीति ला रहे हैं। शिक्षा के साथ उद्यमिता के विकास के लिए ग्लोबल स्किल पार्क की स्थापना की जा रही है। केवल इंदौर में ही पंद्रह सौ से अधिक स्टार्टअप आरंभ हो चुके हैं। मुख्यमंत्री  चौहान ने प्रवासी भारतीय युवाओं को अपने नवाचार के क्रियान्वयन के लिए मध्यप्रदेश आमंत्रित करते हुए कहा कि आपका कोई भी ऐसा नवाचार हो, जिसे आप क्रियान्वित करने के इच्छुक हो तो मध्यप्रदेश सरकार आपको हरसंभव सहयोग के लिए सदैव तत्पर रहेगी।

केंद्रीय विदेश मंत्री डॉ. एस. जयशंकर ने कहा कि प्रधानमंत्री  मोदी द्वारा कहे गए वाक्य “हमारा तो खून का रिश्ता है – पासपोर्ट का नहीं”। इस विचार ने प्रवासी भारतीय सम्मेलन के विचार को बल दिया। हम हर 2 साल में एक परिवार की तरह मिलते हैं। आजादी के अमृत काल में हो रहे इस सम्मेलन में हम स्वतंत्रता के 100 वर्ष अर्थात वर्ष 2047 तक के रोड मैप पर विचार करें। केंद्रीय मंत्री डॉ. एस. जयशंकर ने मुख्यमंत्री  चौहान का प्रदेश में प्रवासी भारतीय सम्मेलन के लिए श्रेष्ठतम सद्भावना और सर्वोत्तम आवभगत के साथ स्वागत के लिए आभार माना।

केन्द्रीय मंत्री डॉ. जयशंकर ने कहा कि विश्व में सर्वाधिक प्रवासी भारत के हैं। कोविड के कठिन काल में भारत ने वैक्सीन मैत्री और वंदे भारत मिशन से संपूर्ण विश्व में सद्भावना का विस्तार किया। प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में बढ़ी डिजिटल डिलीवरी और अधो-संरचना गतिविधियों के विस्तार ने भारतीयों के आत्म-विश्वास में वृद्धि की है। देश में सकारात्मकता का वातावरण है। भारत रहने, कार्य करने और पर्यटन के लिए बेहतर देश के रूप में उभर रहा है।

डॉ. एस. जयशंकर ने विदेश मंत्रालय द्वारा प्रवासी भारतीयों को दी जा रही सुविधाओं और उनसे संबंधित कार्यों की प्रक्रियाओं के सरलीकरण के लिए किए जा रहे प्रयासों की जानकारी भी दी। आस्ट्रेलिया से आयी सांसद  ज़ेनिटा मेस्कानरेन्हास ने इंदौर के खान-पान और देश के विभिन्न राज्यों के पर्यटन की दृष्टि से रूचिकर स्थानों और विशेषताओं का उल्लेख करते हुए कहा कि भारत उद्योग और तकनीक के क्षेत्र में निरंतर प्रगति कर रहा है।  ज़ेनिटा ने जलवायु परिवर्तन के क्षेत्र में संवेदनशीलता के साथ कार्य करने की आवश्यकता बतायी।

केंद्रीय युवा मामले एवं खेल मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर ने मुख्यमंत्री  चौहान का प्रवासी भारतीय सम्मेलन आयोजित करने की सहमति देने और सहयोग के लिए आभार माना। केंद्रीय मंत्री  ठाकुर ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने “एक धरती, एक परिवार, एक भविष्य” का विचार दिया है। पूरा देश प्रवासी भारतीयों से प्रेम करता है, उनका सम्मान करता है और उनकी उपलब्धियों पर देश को गर्व है।

प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में एक भारत, श्रेष्ठ भारत के विचार को स्थापित करने का कार्य जारी है। जिन्होंने हम पर 200 साल राज किया उन्हें पछाड़ कर हम दुनिया की 5 सबसे बड़ी अर्थ-व्यवस्था में शामिल हुए हैं। भारतीय युवाओं ने भारत को दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा स्टार्टअप नेशन बनाया है। केंद्रीय मंत्री ठाकुर ने कहा कि युवा प्रवासी भारतीय अपने सपनों को पूरा करने के लिए मेहनत से आगे बढ़ रहे हैं, पर उनके दिल में भारत बसता है। उन्होंने युवाओं को नवाचार करने और अपने विचारों और नवाचारों को भारत में क्रियान्वित करने के लिए आमंत्रित किया।

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि वे प्रवासी भारतीय सम्मेलन में आए अतिथियों के साथ पौध-रोपण करेंगे। मुख्यमंत्री चौहान ने इंदौर पधारे अतिथियों को इंदौर के सराफा, छप्पन दुकान के भ्रमण तथा महाकाल महालोक और ओंकारेश्वर के दर्शन के लिए आग्रह किया। मुख्यमंत्री चौहान ने मध्यप्रदेश के पर्यटन-स्थलों का भ्रमण करने के लिए भी अतिथियों को आमंत्रित किया।