5G डील में मुंह ताकती रह गई चीनी कंपनियां, नोकिया, सैमसंग और एरिक्सन ने जीती बाजी

देश में चल रही 5G स्पेक्ट्रम की नीलामी में नोकिया, सैमसंग और एरिक्सन को सबसे ज्यादा कॉन्ट्रैक्ट मिले हैं.

5G Deals In India: भारत में चल रही 5G स्पेक्ट्रम नीलामी में जियो और एयरटेल ने अपने 5G इक्विपमेंट्स पार्टनर को फाइनल कर दिया है. इस रेस में से Huawei और ZTE जैसी चीनी कंपनियां बाहर हो गई है. इनके मुकाबले Nokia, Ericsson और Samsung जैसी कंपनियों को ज्यादा कॉन्ट्रैक्ट मिले हैं. बता दें कि नोकिया फिनलैंड की कंपनी है और एरिक्सन स्वीडन और सैमसंग कोरिया की कंपनी है.

नेक्स्ट जनरेशन के नेटवर्क रोलआउट में चीनी कंपनियां खाली हाथ रह गई हैं. आइडिया अपने 5G इक्विपमेंट्स पार्टनरशिप के लिए यूरोपीय वेंडर्स से बात कर रही है. रिपोर्ट में यह जानकारी सामने आई है कि वोडाफोन आइडिया में उन सर्कल में अपने आर्डर प्लेस किए हैं जहां उनका रेवेन्यू मार्केट शेयर का 15 परसेंट से ज्यादा है.

Must Read- मंकीपॉक्स को लेकर सतर्क हुई केंद्र सरकार, वैक्सीन बनाने वाली कंपनियों से मंगवाएं टेंडर

यह पहली बार होगा जब यूरोपियन वेंडर्स मुकेश अंबानी की कंपनी Jio को मोबाइल टेलीफोनी इक्विपमेंट सप्लाई करेंगे. इसके पहले जियो में 4G नेटवर्क के लिए सैमसंग के साथ काम किया था. सैमसंग इस बार एयरटेल को मोबाइल नेटवर्क गियर की सप्लाई करने वाला है.

एयरटेल अपने शुरुआती ऑर्डर में 15 से 20 हजार 5G साइट पर काम शुरू करने वाला है. वही जियो का आर्डर इससे भी बड़ा होने वाला है. जिससे ज्यादा से ज्यादा बड़े शहरों को कवर किया जा सके.

बता दें कि जियो और एयरटेल दोनों ने नेटवर्क इक्विपमेंट के लिए खरीदी आर्डर अभी जारी नहीं किया है. ब्रांड्स ने इस मामले में अभी कोई जानकारी भी नहीं दी है. वहीं मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक एयरटेल ने नोकिया, एरिक्सन और सैमसंग के साथ डील की पुष्टि कर दी है. यह सभी को ऑर्डर देने वाला है.

मीडिया रिपोर्ट में यह भी बताया जा रहा है कि Huawei और ZTE को 4G नेटवर्क से भी आउट कर दिया जाएगा. तीन नए वेंडर्स इन दोनों कंपनियों को रिप्लेस करने वाले हैं, जो 5जी के लिए एयरटेल के साथ काम करेंगे. बताया जा रहा है कि एयरटेल से कम कीमत में जियो ने Ericsson के साथ इक्विपमेंट का सौदा किया है.