अपराधियों को पार्षद का टिकट देने पर बोले मुख्यमंत्री शिवराज- बदले जाएंगे टिकट

मुख्यमंत्री शिवराज- भाजपा किसी आदतन कुख्यात अपराधी को जनप्रतिनिधि के पद पर प्रतिष्ठित नहीं करेगी हम तुरंत एक्शन लेंगे।

भोपाल। मध्यप्रदेश में निकाय चुनाव की तैयारी जोर-शोर से चल रही हैं। तो वही दुसरी ओर अपराधी प्रवृत्ति के लोगों को टिकट देने को लेकर भारतीय जनता पार्टी में उथल-पुथल मची हुई है। मध्य प्रदेश में निकाय चुनाव में अपराधी प्रवृत्ति के लोगों को टिकट देने को लेकर भाजपा बैकफुट पर आ गई है l भोपाल में नगर निगम वार्ड क्रमांक 44 से पिंकी भदौरिया उर्फ भूपेंद्र चौहान और वार्ड क्रमांक 40 से मसर्रत बाबू मस्तान के टिकट वापस लिए गए हैं।

Must Read- भाजपा की प्रत्याशी चयन समिति पर CM शिवराज के बयान से उठे सवाल

बताया जा रहा है कि दोनों पर अपराधिक मामले दर्ज हैं। राजधानी भोपाल में कुख्यात अपराधी बाबू मस्तान की पत्नी मसर्रत, जिला बदर रह चूके बदमाश भूपेंद्र सिंह चौहान उर्फ पिंकी भदौरिया और इंदौर में स्वाति काशिद को टिकट देने पर किरकिरी हो रही हैं। जिसके बाद अब भाजपा डैमेज कंट्रोल में जुट गई हैं। भाजपा अब भोपाल में भी अपने पार्षदों के टिकट बदलने जा रही हैं, इसके पहले इंदौर में वार्ड 56 से स्वाति काशिद का टिकट बदलने के बाद अब पार्टी भोपाल में 2 पार्षदों का टिकट बदलेगी।

टिकट देने के बाद पार्टी के अंदर उठ रहे असंतोष को देखते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने डैमेज कंट्रोल का मोर्चा संभालते हुए कहा है कि “भाजपा स्वच्छ राजनीति की पक्षधर है, पार्टी कुख्यात आदतन अपराधी जो लगातार गड़बड़ करते रहते हैं। जिनके खिलाफ जुआ, सट्टा, अनैतिक गतिविधियों में लिप्त होने के मामले दर्ज हैं। उसे पार्टी कभी भी उम्मीदवार नहीं बनाएगी और अगर ऐसा कहीं बना होगा तो उसे भी वापस ले लेगी।

Must Read- बालाघाट के जंगल में मुठभेड़ में तीन नक्सली ढेर, हाक फोर्स को गृहमंत्री ने दी बधाई

बताया जा रहा है कि इंदौर के 2 वार्डो ( विधानसभा 2 और 5) की शिकायत पर भी जल्द ही फैसले की उम्मीद है। प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने मीडिया के माध्यम से भारतीय जनता पार्टी के अधिकृत प्रत्याशी के खिलाफ चुनाव लड़ने वाले उनके सभी कार्यकर्ताओं से अपील की है। प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा का कहना है कि जितने भी हमारे कार्यकर्ताओं ने भारतीय जनता पार्टी के अधिकृत प्रत्याशियों के खिलाफ फॉर्म भरे हैं। हम उनसे अपील करते हैं कि वह अपने नामांकन वापस ले लें। अगर कोई ऐसा नहीं करता है तो पार्टी के संविधान के अनुसार उन पर कार्यवाही की जाएगी।

निकाय चुनाव में भाजपा ने वार्ड 44 से जिस भूपेंद्र सिंह चौहान को मैदान में उतारा है, वह हिस्ट्रीशीटर बदमाश है। हत्या के प्रयास, लूट, मारपीट, अड़ीबाजी के केस भी दर्ज हैं और इसी के साथ ही कुख्यात सटोरिए बाबू मस्तना की पत्नी मसर्रत को भी टिकट दिया है। इस पूरे मामले में मुख्यमंत्री चौहान ने जो बयान दिया है उसके बाद राजधानी भोपाल से भाजपा के पार्षद उम्मीदवारों के दो टिकट बदल सकते है। क्योंकि मुख्यमंत्री चौहान ने साफ तौर पर कहा है कि भाजपा किसी आदतन कुख्यात अपराधी को जनप्रतिनिधि के पद पर प्रतिष्ठित नहीं करेगी हम तुरंत एक्शन लेंगे।