केन्द्र सरकार ने गांधी परिवार से वापस ली एसपीजी सुरक्षा, तिलमिलाई कांग्रेस

केन्द्र सरकार ने शुक्रवार को बड़ा फैसला लेते हुए गांधी परिवार से एपीजी (स्पेशल प्रोटेक्शन फोर्स) सुरक्षा वापस ले ली है और अब सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी को जेड प्लस की सुरक्षा निगरानी में रखा जाएगा। गौरतलब है कि पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी हत्या के बाद गांधी परिवार को एसपीजी सुरक्षा दी गई थी।

0
23
Sonia-priyanka-Rahul

नई दिल्ली। केन्द्र सरकार ने शुक्रवार को बड़ा फैसला लेते हुए गांधी परिवार से एपीजी (स्पेशल प्रोटेक्शन फोर्स) सुरक्षा वापस ले ली है और अब सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी को जेड प्लस की सुरक्षा निगरानी में रखा जाएगा। गौरतलब है कि पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी हत्या के बाद गांधी परिवार को एसपीजी सुरक्षा दी गई थी।

गृह मंत्रालय द्वारा सुरक्षा समीक्षा कमेटी की बैठक के दौरान लिए गए फैसले की अनुसार अब गांधी परिवार की सुरक्षा में सीआरपीएफ या फिर एनएसजी के कमांडो उनकी सुरक्षा में तैनात होंगे। मालूम हो प्रत्येक वर्ष एपीजी सुरक्षा की समीक्षा की जाती है। इसके अंतर्गत संबंधित व्यक्ति को संभावित खतरे को देखते हुए ये तय किया जाता है कि उन्हें एसपीजी सुरक्षा की जरूरत है या नहीं।

मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो उच्च स्तरीय बैठक के दौरान ये निर्णय लिया गया कि मौजूदा समय में गांधी परिवार को कोई खतरा नहीं है, ऐसे में जेड प्लस सुरक्षा पर्याप्त रहेगी। गौरतलब है कि इससे पहले पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की सुरक्षा से भी एसपीजी सुरक्षा वापस ले ली गई थी और उन्हे जेडप्लस श्रेणी की सुरक्षा प्रदान की गई थी।

शाह की सुरक्षा में होगा इजाफा

सुरक्षा समीक्षा की बैठक में केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह की सुरक्षा बढ़ाने को लेकर भी फैसला लिया गया है। खुफिया ऐजेंसियों से मिले इनपुट के मुताबिक कश्मीर से विशेष राज्य का दर्जा छिने जाने के बाद शाह की जान को खतरा बढ़ा है। एक वरिष्ठ अधिकारी का कहना है कि गृह मंत्री की जान को खतरे की खुफिया जानकारी मिली है। शाह को फिलहाल जेड स्पेशल सुरक्षा से कवर किया गया है।

सिर्फ प्रधानमंत्री के पास बची है एसपीजी सुरक्षा

गांधी परिवार से एसपीजी सुरक्षा हटाए जाने के बाद अब सिर्फ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के पास ही ये सुरक्षा रहेगी।

कांग्रेस ने जताया विरोध

इधर कांग्रेस ने केन्द्र सरकार के फैसले का कड़ा विरोध जताया है। कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद ने एक टीवी चैनल से बातचीत के दौरान कहा कि सरकार ने ये फैसला राजनीतिक बदले की भावना से लिया है, जो कि दुर्भाग्यपूर्ण है। वहीं कांग्रेस नेता अहमद पटेल का कहना है कि बीजेपी निजी तौर पर बदला लेने की राजनीति कर रही है।

अधिकारियों ने दिया पिछले दौरों का हवाला

खबरों की माने तो बैठक के दौरान एसपीजी अधिकारियों ने कई रिपोर्ट को पेश करते हुए दावा किया कि गांधी परिवार से कई बार कहने के बावजूद वे विदेश दौरों में अपने साथ एसपीजी सुरक्षा नहीं ले गए। इसका मतलब यह है कि उन्हें एसपीजी सुरक्षा की आवश्यकता नहीं है। बताया जा रहा है कि गांधी परिवार के सदस्यों द्वारा कई बार सुरक्षा नियमों का उल्लंघन किया था। एक अधिकारी के मुताबिक सोनिया गांधी ने 50 बार, राहुल ने 1892 बार और प्रियंका गांधी ने भी 400 से ज्यादा बार सुरक्षा नियम तोड़ा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here