शराबी की मामले में दिल्ली में सीबीआई ने पहली गिरफ्तारी की है। इस मामले में विजय नायर को सीबीआई ने गिरफ्तार कर लिया है और उनके कई ठिकानों पर भी छापे मारे। नायर एंटरटेनमेंट और इवेंट मीडिया कंपनी के पूर्व सीईओ हैं।आपको बता दें कि बीजेपी ने विजय नायर की गिरफ्तारी के बाद आम आदमी पार्टी को घेरे में ले लिया है। बीजेपी ने लिखा कि मनीष सिसोदिया शुरुआत हो गई और अब अरविंद केजरीवाल की इच्छा भी पूरी होने वाली है।

मनीष सिसोदिया पर भी आरोप लगे हैं कि आबकारी विभाग ने शराब की दुकानों के लिए लाइसेंस जारी किए। जिससे मनीष सिसोदिया के द्वारा प्राइवेट वेंडर्स को 144 करोड़ 36 लाख रुपए का फायदा पहुंचाया है। लेकिन सबसे हैरान करने वाली बात कि इस दौरान इतने लाख रुपए के लाइसेंस भी माफ कर दिए, जिससे सरकार को बहुत ज्यादा नुकसान हुआ है।

Must Read- Deepika Padukone की तबियत हुई खराब, अचानक ले जाना पड़ा अस्पताल

दरअसल दिल्ली की शराब नीति से जुड़ा यह पूरा मामला घोटाले से जुड़ा हुआ है। इस पूरे मामले को लेकर मुख्य सचिव ने एक रिपोर्ट सौंपी है। बताया जा रहा है कि इस रिपोर्ट में जीएनसीटीडी एक्ट 1991 ट्रांजेक्शन आफ बिजनेस रूल्स 1993 और दिल्ली एक्साइज एक्ट 2009 और दिल्ली एक्साइज रूल्स 2010 के नियमों का उल्लंघन पाया गया है।