एजुकेशन

CBSE का फैसला, छात्र जहां हैं वहीं से दे सकेंगे बोर्ड परीक्षा

नई दिल्ली। देश में बढ़ते कोरोना वायरस के मामलों के बीच सीबीएसई ने परीक्षा की तारिखों का ऐलान कर दिया है। इसी के चलते बुधवार को केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने छात्रों के लिए एक राहत भरा ऐलान किया है। केन्द्रीय मंत्री का कहना है कि ऐसे छात्र जो लाॅकडाउन के चलते दूसरे राज्यों और शहरों में चले गए हैं उन्हे अब परीक्षा के लिए पूर्व में निर्धारित परीक्षा केन्द्रों पर नहीं जाना होगा।

बता दे कि ऐसे में अब सीबीएसई के छात्र जहां भी है वहीं से परीक्षा दे सकेंगे। निशंक ने बताया कि ऐसे छात्रों को अपने स्कूलों को इस बात की जानकारी उपलब्ध कराना होगी। उन्होने कहा जून माह के पहले हफ्ते में छात्रों को इस संबध में जानकारी उपलब्ध करा दी जाएगी कि उन्हे किस स्कूल में परीक्षा देने जाना होगा।

1 से 15 जुलाई तक होगी परीक्षा

गौरतलब है कि बोर्ड परीक्षा को लेकर सीबीएसई (केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड) डेट शीट भी जारी कर चुका है। जिसके अनुसार 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं एक जुलाई से 15 जुलाई के बीच होंगी। गौरतलब है कि मार्च में जहां एक और 10वीं और 12वीं के छात्रों की परीक्षाएं चल रही थी तभी कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने 25 मार्च से लाॅकडाउन की घोषणा कर दी थी। ऐसे में जिन छात्रों के पेपर बाकी थे वे लाॅकडाउन के कारण रह गए।

29 विषयों की बाकी रह गई थी परीक्षा

बता दे कि लाॅकडाउन के कारण 29 कुल विषयों की परीक्षा बाकी रह गई थी। सीबीएसई ने पहले ही बता दियाा था कि देश में कहीं भी 10वीं की परीक्षा नहीं होगी। सिर्फ नॉर्थ ईस्ट दिल्ली के छात्रों के लिए छूटी हुई परीक्षा आयोजित की जाएगी। कोरोना का खतरा अभी भी टला नहीं है ऐसे में परीक्षा के दौरान छात्रों और शिक्षकों की सुरक्षा के लिए सोशल डिस्टेंसिंग का खास ध्यान रखा जाएगा। परीक्षा के दौरान सख्त नियम अपनाएं जाएंगे। छात्रों और शिक्षकों के लिए सभी आवश्यक किटों के साथ परीक्षा केंद्र तैयार किए जाएंगे।