नई दिल्ली। भारतीय सेना किसी परिचय की मोहताज नहीं। समस्त देशवासी सेना के कर्जदार है। अगर हम अपने घरो में चैन से सो पाते है, तो इसका पूरा का पूरा श्रेय केवल हमारी सेना को जाता है। हमारी तीनों सेनाएं जल, थल और वायु, हमारी देश की आंखे है, जो चौबिसो घंटे और सातो दिन बाहरी खतरों से हर पल हमारे देश की सीमाओं की रक्षा करते हैं।

बड़ी संख्या में हर साल देश के बेटे-बेटियां सेना में शामिल होती हैं। ऐसी ही एक बेटी हैं कैप्टन शिवा चौहान (Captain Shiva Chauhan), जिन्होंने इतिहास रच दिया है। दरअसल, फायर एंड फ्यूरी सैपर्स की कैप्टन शिवा चौहान दुनिया के सबसे ऊंचे युद्धक्षेत्र में तैनात होने वाली पहली महिला अधिकारी बन गई हैं। भारतीय सेना ने इस बात की जानकारी दी है।

 

Also Read – Gold Price Today: नए साल में पहली बार सस्ता हुआ सोना, चांदी में आई तेजी जानें 10 ग्राम की कीमत

कैप्टन शिवा चौहान को कुमार पोस्ट में ऑपरेशनल रूप से तैनाती मिली है, वह दुनिया के सबसे ऊंचे युद्धक्षेत्र में तैनात होने वाली पहली महिला अधिकारी हैं। भारतीय सेना की फायर एंड फ्यूरी कॉर्प्स ने ट्वीट किया, ‘फायर एंड फ्यूरी सैपर्स की कैप्टन शिवा चौहान दुनिया के सबसे ऊंचे युद्ध क्षेत्र सियाचिन में कठिन ट्रेनिंग को पूरा करने के बाद कुमार पोस्ट में तैनात होने वाली पहली महिला अधिकारी बनीं।

समुद्र तल से पोस्ट की ऊंचाई 15632 फीट बताई गई है। सियाचिन ग्लेशियर दुनिया का सबसे ऊंचा युद्धक्षेत्र है। भारत और पाकिस्तान के जवानों के बीच सियाचिन ग्लेशियर में कई बार टकराव भी देखने को मिला है। 2021 के सितंबर में सियाचिन ग्लेशियर पर 15,632 फीट की ऊंचाई पर स्थित कुमार पोस्ट पर पहुंचने पर विशेष रूप से विकलांग लोगों की एक टीम ने विश्व रिकॉर्ड बनाया था।