बड़ी खबर: लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में एक और आरोपी आया सामने, बढ़ी आशीष मिश्रा की मुश्किलें

उत्तर प्रदेश में 3 अक्टूबर 2021 को हुई लखीमपुर खीरी हिंसा मामले(Lakhimpur Kheri violence case) में अब नया मोड़ आया हैं। पुलिस के विशेष जांच दल (SIT) ने सोमवार को केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा समेत सभी 14 आरोपियों के खिलाफ अदालत में आरोप पत्र दाखिल कर दिया हैं।
आपको बता दे कि पिछले साल तीन अक्टूबर को लखीमपुर जिले के तिकुनिया क्षेत्र में अजय मिश्रा के यहां आयोजित एक कार्यक्रम में शामिल होने जा रहे उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के दौरे का विरोध किसानों द्वारा किया गया था। इस दौरान वहाँ हिंसा हो गई। और चार किसानों समेत आठ लोगों की मौत हो गई थी। किसानों की हत्या के मामले में गृह राज्य मंत्री का बेटा आशीष मिश्रा मुख्य आरोपी है।
वरिष्ठ अभियोजन अधिकारी(senior prosecution officer) एस पी यादव ने बताया कि एसआईटी ने मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट चिंताराम की अदालत में 5,000 पन्नों का आरोप पत्र दाखिल कर दिया है। इसमें वीरेंद्र शुक्ल नामक एक और आरोपी का नाम शामिल किया गया है। इस तरह मामले में आरोपियों की संख्या बढ़कर अब 14 हो गई है। यादव ने बताया कि इस मामले में मुख्य आरोपी आशीष के साथ-साथ अंकित दास, नंदन सिंह बिष्ट, सत्यम त्रिपाठी, लतीफ उर्फ काले, शेखर भारती, सुमित जायसवाल, आशीष पांडे, लवकुश राणा, शिशुपाल, उल्लास कुमार उर्फ मोहित त्रिवेदी, रिंकू राणा तथा धर्मेंद्र बंजारा नामक आरोपियों को गिरफ्तार भी किया जा चुका है।
आपको बता दे इस मामले में एसआईटी को 90 दिन के अंदर आरोप पत्र दाखिल करना था।