नवाबो के शहर से पहचाने जाने वाले शहर भोपाल में जेबकतरो से परेशान लेकिन अब गुंडे-बदमाशों की खैर नहीं. लोकल सफर करने वाले यात्रियों की सुरक्षा को देखते हुए नगर निगम एवं बीसीएलएल अहम कदम उठाने जा रही है. यात्री सुरक्षा के लिए प्रदेश की राजधानी भोपाल की लो फ्लोर बसों में गुंडे-बदमाशों के फोटो चस्पां किए जाएंगे. जिसके लिए 200 से अधिक ड्राइवर और कंडेक्टरों को स्पेशल ट्रेनिंग भी जा रही है. बीसीएलएल के सिटी इंजीनियर आरके सक्सेना ने बताया कि यात्रियों की सुरक्षा के प्रबंध किए जा रहे हैं.

बसों में चस्पा होंगे फोटो

लो फ्लोर बसों में गुंडे-बदमाशों का फोटो होने से यात्री सतर्क भी हो जाएंगे और पुलिस को सूचना भी दे सकेंगे. उन्होंने बताया कि यात्रियों का जेब काटने के लिए बदमाश बसों में बैठ जाते हैं. विरोध जताने पर जेबकट यात्रियों के साथ मारपीटाई पर उतारू हो जाते है. बसों में यात्रियों के साथ कई घटनाएं हो चुकी हैं. पुलिस की पूछताछ से बचने के लिए यात्री थानों में शिकायत नहीं करते हैं. अब यात्रियों का सफर सुरक्षित बनाने के लिए कदम उठाया गया है. इसलिए, गुंडे-बदमाशों का फोटो लगाने का प्रस्ताव है.

भोपाल में बसों में हुई कई घटनाएं

पुलिस के मुताबिक रायसेन के रामकृष्ण प्रजापति हलालपुर बस स्टैंड से लाल बस में सवार हुए. एक जेबकतरे ने उनकी जेब में हाथ डाला. उन्होंने बदमाश का हाथ पकड़ लिया. विरोध करने पर जेबकतरे ने चाकू प्रजापति को मार दी. मुखबिरी करने पर लाल बस के चालक संतोष विश्वकर्मा और बस कंडेक्टर अक्षत विश्वकर्मा पर जेबकतरे की जानलेवा हमला किया. सितंबर 2022 को महिला पुलिसकर्मी ज्योत्सना शर्मा एसआर बस में सफर कर रही थीं. उनका पर्स चोरी हो गया. उसी माह नर्स ललित पाटिल के साथ भी घटना घटी. विरोध करने पर जेबकतरों ने धमकी दी. साल 2017 में जेबकतरे बस यात्री कमल सिंह की चाकू मारकर हत्या कर चुके हैं. उन्होंने भी जेबकट का हाथ पकड़ लिया था.