Breaking News

कैल्शियम क्या है और इतना महत्वपूर्ण क्यों है

Posted on: 13 Jun 2018 07:21 by shilpa
कैल्शियम क्या है और इतना महत्वपूर्ण क्यों है

नई दिल्ली : उम्र के हर एक  दौर के लिए कैल्शियम जरूरी होता है।  कैल्शियम एक खनिज है। हड्डियों और दांतो की संरचना और कठोरता बनी रहे इसलिए सारा कैल्शियम इनमे संग्रहित किया जाता है। शरीर में यह  कई महत्वपूर्ण कार्यों को पूरा करने के लिए आवश्यक है। शरीर में रक्त वाहिकाओं द्वारा पूरे शरीर में खून के बहने में मदद करने के लिए कैल्शियम का उपयोग किया जाता है। हर फंक्शन को प्रभावित करने वाले हार्मोन और एंजाइम को रिलीज करने में कैल्शियम मदद करता है। मांसपेशियों के चलने और मस्तिष्क और शरीर के प्रत्येक अंग के बीच संदेश के लिए जिम्मेदार तंत्रिका तंत्र के लिए कैल्शियम ज़रूरी है। मांसपेशियों के संकुचन, तंत्रिका संकेत, और रक्त के थक्के के साथ मदद करता है।

दूध और डेअरी प्रोडक्ट कैल्शियम का एक बहोत अच्छा स्त्रोत है  लेकिन जो इसका उपयोग नहीं करते उनके लिए सप्लीमेंट आवश्यक होता है।

 आईये देखते है कैल्शियम के फायदे –

 1.हड्डियों को मजबूत बनाएं-

कैल्शियम हड्डियों में सही आकर में बनाये रखता है, रीढ़ की  हड्डी को मजबूत बनाता है तथा पीठ के पेन को कम करता है। कैल्शियम आपको  कई समस्याओं जैसे गठिया और ऑस्टियोपोरोसिस से सुरक्षित रखता है।

2.मोटापे को रोकता है-

कैल्शियम आपके शरीर के वजन को बनाए रखने में मदद करता है। अगर शरीर में कैल्शियम की कमी होती है तो शरीर पैराथाईराइड हार्मोन रिलीज करता है जिससे हड्डियां रक्त प्रवाह में कैल्शियम करती है।   ये शरीर में कैल्शियम का संतुलन बनाये रखता है।

3.कॉलन कैंसर से बचाव-

कैल्शियम युक्त पदार्थ ट्यूमर तथा एडिनोमस के खतरे को भी कम करते है। यह कैंसर के लिए जाना जाता है लेकिन पूरी तरह खतरे को कम नहीं करता। सही मात्रा में कैल्शियम कॉलन कैंसर के खतरे से बचाव करता है तथा पॉलिप्स की वृद्धि को दबाता है, जिसकी वजह से यह कैंसर होता है। शरीर कैल्शियम की आवश्यक मात्रा के प्रयोग के बाद अतिरिक्त कैल्शियम आँत में रह जाता है।

 4.कार्डिएक मसल्स की सुरक्षा-

कैल्शियम की सही मात्रा हृदय की मांसपेशियों  की सिकुड़न  में राहत देता है।   कैल्शियम हार्ट की मांसपेशियों की सुरक्षा करता है। कार्डिएक मसल्स को सिकुड़न हेतु एक्स्ट्रा सेल्युलर कैल्शियम की आवश्यकता होती है। कैल्शियम नर्वस सिस्टम की धमनियों के दबाव को नियंत्रित करता है।

 5.माहवारी पूर्व डिप्रेशन से बचाव-

 कैल्शियम के स्त्राव को प्रभावित करता है, जो माहवारी पूर्व व्यवहार में परिवर्तन के लिए जिम्मेदार होता है। इसमें डिप्रेशन व इरिटेशन भी शामिल है।कैल्शियम की सही मात्रा माहवारी से पहले होने वाले लक्षण जैसे डिप्रेशन, सुस्ती, मूड में परिवर्तन, हाइपरटेंशन से बचाव करती है।

 6.स्वस्थ अल्कालाइन pH लेवल को सुनिश्चित करें-

अधिक मात्रा में शुगर सेवन , जंक फ़ूड , प्रिज़र्वेड फ़ूड आइटम्स से शरीर में एसिडिटी  हो जाती है। यह कई बिमारियों को जन्म देते है जैसे कैंसर, किडनी स्टोन्स एवं हाइपरटेंशन आदि। कैल्शियम हैल्दी pH लेवल को नियंत्रित करता है तथा पूरे स्वास्थ्य को इम्प्रूव करता है।

7.किडनी स्टोन्स से बचाव-

डायटरी कैल्शियम किडनी स्टोन्स का कारन नहीं है लेकिन पानी में  कैल्शियम के ज्यादा सेवन से किडनी स्टोन होता है। किडनी स्टोन्स वास्तव कैल्शियम व अन्य मिनरल्स का क्रिस्टलीय रूप में जमा होना है।  किडनी स्टोन्स के अन्य कारणों में द्रव पदार्थों का कम सेवन एवं पत्तेदार सब्जियों का अधिक मात्रा में सेवन हो सकता है

 8. मसूड़ों व दाँतों को रखे स्वस्थ –

पूरी जिंदगी आपके जबड़े को जो मजबूत बनाए रखता है और जिससे दातों की पकड़ मजबूत होती है वो है कैल्शियम। इसलिए इससे पहले कि दाँतों या मसूड़ों की कोई समस्या पैदा हो, आपको कैल्शियम से भरपूर आहार लेना चाहिए। इसलिए बच्चों को कैल्शियम से भरपूर आहार देना चाहिए तो युवावस्था में उनकी हड्डियां और दांत मजबूत रहते है।

9. ब्लड प्रेशर कन्ट्रोल करता है-
सही मात्रा में कैल्शियम लेने से ब्लड प्रेशर कम होता है। फल एवं सब्जियों की सही मात्रा लेना या कैल्शियम की सही मात्रा ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करती है। स्वस्थ आहार हाइपरटेंशन को ख़त्म करता है

10. पोषक तत्वों के परिवहन में सहायक

पोषक तत्वों को कोशिकाओं की झिल्ली तक आसानी से पँहुचाने में कैल्शियम मदद करता है।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com