कांग्रेस के टिकिट वितरण में भ्रष्टाचार का आरोप, सक्रिय कार्यकर्ताओं के बजाय निष्क्रिय व पैसे वालों को दिए गए टिकिट

इंदौर नगरीय निकाय चुनाव में कांग्रेस के टिकिट वितरण में भ्रष्टाचार का आरोप ,निष्क्रिय व पैसे वालों को टिकिट ,सक्रिय कार्यकर्ताओं का कटा टिकिट

इंदौर नगरीय निकाय चुनाव 2022 के पार्षद पद के चुनाव हेतु सक्रिय व 20-30 वर्षों से क्षेत्र में मेहनत करने वाले कर्मठ, जुझारू कार्यकर्ताओं को टिकिट न देकर पैसे वालों को टिकिट दिए गए। यह आरोप कांग्रेस पार्टी, इंदौर के विभिन्न वार्डो के सक्रिय दावेदारों ने लगाया है। साथ ही यह भी संभावना व्यक्त की कि रूपयों का लेन-देन भी किया गया है, टिकिट वितरण हेतु प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री तथा प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष कमलनाथ ने चयन कमेटी बनाई थी जिसमें पूर्व मंत्री एवं विधायक विजयलक्ष्मी साधो जो महेश्वर विधानसभा से ताल्लुक रखती है, इंदौर शहर के सक्रिय व निष्क्रिय कार्यकर्ताओं के विषय में जोकि कुछ नही जानती।

Read More : ट्रांसपेरेंट ड्रेस में Mia Khalifa का दिखा सुपर बोल्ड लुक, तस्वीरें देख फैंस के छूटे पसीने

कौन है टिकिट वितरण में इस धांधली का जिम्मेदार

चयन कमेटी में शहर कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष की महत्वपूर्ण भूमिका होती है क्योंकि वह ही जानते है कि कौन सक्रिय और निष्क्रिय। बड़े नेताओं का जवाब है कि इंदौर विधानसभा क्षेत्र क्रमांक 2 (205) के नगरीय निकाय चुनाव वर्ष 2022 के टिकिट वितरण हेतु चिन्टू चौकसे को फ्री हैंड कमलनाथ ने दिया है। टिकिट वितरण में हुए भ्रष्टाचार व लेन-देन कर निष्क्रिय लोगों को टिकिट दिये जाने को लेकर चिन्टू चौकसे का कहना है कि मैं एक छोटा सा कार्यकर्ता हूं।

मैं टिकिट वितरण कैसे कर सकता हूँ। टिकिट वितरण में मेरी कोई भूमिका नहीं है तो सवाल बनता है कि यह गलत टिकिट वितरण के जिम्मेदार कौन है, क्या महापौर प्रत्याशी संजय शुक्ला को हराने के लिये कोई षड्यंत्र तो नहीं रचा गया है, जिनका कोई जनाधार नहीं उन्हें टिकिट तथा जो 20-25 वर्षों से क्षेत्र में जो सक्रिय हैं वह टिकिट से वंचित हैं।

इन सक्रिय कार्यकर्ताओं का कटा टिकिट

आरोप है वार्ड 19 विधानसभा 2 में जमीनी सक्रिय नेता अशोक यादव जो सदैव जनता के सुख-दुःख में खड़े रहते है, खुद के टैंकर सेनेटाईजर चलवाते है, उनका टिकिट बेचकर चापलूसी करने वाले को टिकिट बेच दिया गया, इनके लिए आदरणीय अध्यक्ष कमलनाथ के यहां से पत्र आने के बावजूद भी टिकिट बेच दिया गया।  कमलनाथ भी सुनवाई नहीं कर रहे है। वार्ड क्रमांक 26 से कमलेश पटेरिया 25 वर्षों से कांग्रेस पार्टी की सेवा करते आ रहे है और वार्ड में 25 वर्षों से एक ही परिवार को कांग्रेस टिकिट दे रही है जो लगातार पराजित हो रहे है और पिछले चुनाव में तीसरे नम्बर पर आये थे।

Read More : ट्रांसपैरेंट ब्लाउज पहन Malaika Arora ने किया जबरदस्त डांस, वीडियो देख हो जाएंगे हैरान

वार्ड क्रमांक 28 से प्रत्याशी राधा ताई, मुरली फावडे, जिनके समाज के 8500 हजार मतदाता होने के बावजूद टिकिट काट दिया गया। वार्ड क्रमांक 29 से राधा मनोज जाधव जमीनी कार्यकर्ता का टिकिट बेचकर निष्क्रिय व्यक्ति को टिकिट दिया गया। वार्ड क्रमांक 30 में रेखा राजेश लोहिया के समर्थन में प्रबल दावेदार करिश्मा डोंगरे, असंगठित कामगार कांग्रेस शहर अध्यक्ष सुदेश डोंगरे के लिए मंडल अध्यक्ष सतीश परिहार, कार्यकारी ब्लाक अध्यक्ष राहुल धाकरे, वार्ड प्रभारी सुदेश डोंगरे, सुभाष गुनवधिया के समर्थन देने के बाद भी पार्टी नेताओं ने उपेक्षा की है।

प्रदेश कांग्रेस सचिव राजेश लोहिया विभिन्न पदों पर रहते हुए 28 साल से सक्रिय राजनीति में है ,जिनका वार्ड क्रमांक 31 से सभी कांग्रेस पदाधिकारियों एवं 40 साल पुराने कांग्रेस के जमीनी नेता एवं वरिष्ठ कांग्रेस नेता रोहिताश शर्मा एवं दूसरे दावेदार के समर्थन के बावजूद दरकिनार कर टिकिट काट दिया गया ।