जाधव को राहत के बाद, सरबजीत की बहन का दर्द छलका

0
37

चंडीगढ़ \ पाकिस्तान की जेल में मारे गए सरबजीत सिंह की बहन दलबीर कौर कह रही हैं कि कुलभूषण जाधव मामले में भारत की जीत से खुश हूं। मोदी सरकार ने अच्छा काम किया है। यही कोशिश मेरे भाई सरबजीत के मामले में हुई होती, तो लाहौर की जेल में उसकी जान नहीं जाती।मैंने सरकार से गुजारिश की थी कि वो मामला भी अंतर्राष्ट्रीय अदालत तक ले जाया जाए, लेकिन ध्यान नहीं दिया गया। उसके केस में भी कई गड़बडिय़ां थीं। पाकिस्तान में उसके साथ जुल्म होता रहा। लोगों को भी दर्द का अहसास तब हुआ, जब सरबजीत पर फिल्म बनी। मेरा परिवार जेल में सरबजीत से मिलने भी गया, तब मीडिया ने खूब तव”ाो दी थी। मैं सरकार की मंशा पर सवाल नहीं उठा रही हूं, लेकिन एक बहन का दर्द समझना जरूरी है। करीब 23 साल मेरा भाई जेल में रहा।

एक रुपए वाले से हारा बीस करोड़ रुपए वाला
कुलभूषण जाधव का केस लडऩे वाले हरीश साल्वे ने एक रुपया लिया है। उधर, पाकिस्तान ने इसके लिए दो वकील बदले और करीब बीस करोड़ रुपए खर्च किए। इसके बावजूद वो लड़ाई में पिछड़ रहे हैं। पाकिस्तान की तरफ से खावर कुरैशी ने केस लड़ा है। कैंब्रिज यूनिवर्सिटी से कानून की पढ़ाई की है। हरीश साल्वे उनसे कामयाब और महंगे वकील हैं। उनकी एक दिन की फीस ही लाखों में है, लेकिन इस केस के लिए एक रुपया ही लिया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here