प्रशासन मेडिकल कॉलेज की पहली मंजिल पर करेगा 5 करोड़ 41 लाख रुपए खर्च, रहेंगे ये वार्ड

शहर की बढ़ती आबादी के साथ जहां मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है,

MYH hospital

शहर की बढ़ती आबादी के साथ जहां मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है, वहीं जनसंख्या में भारी बढ़ोतरी के साथ नई- नई बीमारियां भी सामने आ रही हैं। इसी के साथ उनके इलाज के लिए सर्जरी की नई मेडिकल तकनीक भी इस्तेमाल की जाने लगी है। ऑपरेशन के लिए अब हाईटेक ओटी की जरूरत पडऩे लगी है। इन सब बातों को ध्यान में रखकर एमवाय हॉस्पिटल में नए ऑपरेशन थिएटर, मेडिकल वार्ड व आईसीयू हॉल बनाने की जिम्मेदारी पीडब्ल्यूडी की शाखा प्रोजेक्ट इम्प्लिमेंट यूनिट (पीआईयू) को दी गई है। पीआईयू का दावा है कि एमवायएच का यह नया प्रोजेक्ट मार्च 2023 तक पूरा हो जाएगा। एमवायएच अधीक्षक परमेंद्रसिंह ठाकुर ने बताया कि गायनिक वार्ड को एमटीएच हॉस्पिटल में शिफ्ट करने के बाद एमवायएच की पहली मंजिल पर खाली पड़े गायनिक वार्ड की जगह पर 8 नए मॉड्यूलर ओटी, यानी हाईटेक ऑपरेशन थिएटर, 5 नए मेडिकल वार्ड सहित लगभग 25 मेडिकल बेड का आईसीयू हॉल बनने जा रहा है। मॉड्यूलर ओटी बनने से एक साथ 8 सर्जरी हो सकेगी। इसके लिए मेडिकल कॉलेज प्रशासन लगभग 5 करोड़ 41 लाख रुपए खर्च करने जा रहा है।

Also Read – ट्विटर के शेयर में आई 11.3 % की गिरावट, एलन मस्क के सौदा रद्द करने के बाद हुआ भारी नुकसान

पीआईयू के अनुसार मरीजों की बढ़ती संख्या को देखकर लंबे समय से एमवायएच में मेडिकल बेड बढ़ाने की जरूरत महसूस की जा रही है। इसीलिए 2019 में इस प्रोजेक्ट को प्लान किया गया था, मगर कोरोना के चलते 2 साल तक यह प्रोजेक्ट अटका रहा। जब कोरोना संक्रमण काल से राहत मिली तो बाद में यहां पर संचालित गायनिक वार्ड को नवनिर्मित एमटीएच हॉस्पिटल में शिफ्ट करने में समय लग गया। इसी दरमियान इस प्रोजेक्ट में डिजाइन सहित कुछ बदलाव किए गए। इसलिए इस प्रोजेक्ट के शुरू व खत्म करने का तय समय परिवर्तित होता रहा, लेकिन अब जल्दी ही इसका काम शुरू किया जा रहा है। सब कुछ ठीक-ठाक रहा तो मार्च 2023 तक यह प्रोजेक्ट पूरा हो जाएगा। एमवायएच में जो पुराने 10 ओटी हैं उनका रिनोवेशन करना है या वहां कुछ नया स्ट्रक्चर खड़ा करना है। इसका फैसला पहली मंजिल पर 8 नई मॉड्यूलर ओटी बनाने के बाद होगा।