आपकी कमाई की मोटी रकम टैक्स भरने में जाती है?, जानिए इस प्रकार बचा सकते है टैक्स

वैभव अपने माता-पिता और दादा-दादी के साथ रहता है। अगर इनके साथ रहकर रूम का अलग से रेंट देता है तो उसको एक लाख रुपये या उससे अधिक की बचत हो सकती है।

आज के दौर में इस बढ़ते टेक्स की वजह से अच्छी कमाई करने वालो की मोटी रकम टैक्स में चली जाती है। इसी इनकम टैक्स के बचाने के लिए एक अच्छे सीए की मदद लेता है। इसके साथ ही कंपनी से बात कर फूड कूपन, एलटीए, एचआरए, एनपीएस और गैजेट अलाउंस लेकर टैक्स में भारी बचत की जा सकती है।

आईटी प्रोफेशनल 35 साल का वैभव बेंगलुरु में नौकरी करता हैं। जिसमें उसको अच्छी सैलरी मिलती है, लेकिन मिलाने वाली सैलरी का हर साल का 18 प्रतिशत टैक्स में चला जाता है। वैभव के साथ ऐसा इसलिए होता है क्योंकि उसकी सैलरी टैक्स फ्रेंडली नहीं है और न ही वे अपने सभी डिडक्शन को क्लेम कर पाते हैं। वैभव इस माथापच्ची को सुलझाने के लिए सीए का सहारा लेते हैं। सीए उन्हें बताता है कि कुछ डिडक्शन क्लेम कर लें और निवेश को थोड़ा टैक्स फ्रेंडली बनाएं तो हर साल आसानी से 2.27 लाख रुपये का इनकम टैक्स बचाया जा सकता है।

इस तरह अपनी सैलरी का 18 प्रतिशत टैक्स बचा लेता है वैभव

क्या है एचआरए बचत

वैभव अपने माता-पिता और दादा-दादी के साथ रहता है। अगर इनके साथ रहकर रूम का अलग से रेंट देता है तो उसको एक लाख रुपये या उससे अधिक की बचत हो सकती है। बचत में एचआरए के अलावा एनपीएस और हेल्थ इंश्योरेंस बड़ा रोल निभा सकते हैं।

Also Read : वायुसेना अग्निवीर भर्ती परीक्षा आज, एग्जाम पैटर्न, नियम सहित सभी डिटेल्स यहां

एचआरए के अलावा वैभव एनपीएस पर टैक्स बचा सकते हैं। सेक्शन 80CCD(2) के तहत वैभव अपनी बेसिक सैलरी का 10 परसेंट हिस्सा एनपीएस में डालकर टैक्स बचा सकते हैं। अगर वैभव की कंपनी हर महीने उनकी बेसिक सैलरी का 10 परसेंट 7,169 रुपये एनपीए में जमा करे तो उनकी टैक्स बचत और 27,000 रुपये बढ़ सकती है। अगर वैभव खुद से एनपीएस में 50,000 रुपये जमा करें तो अतिरिक्त 15,600 रुपये टैक्स बचा सकते हैं।

ले सकते है इन सुविधाओं का भी लाभ

वैभव अपनी कंपनी से बात कर कुछ टैक्स फ्री सुविधाएं ले सकते हैं। जैसे फूड कूपन, एलटीए और गैजेट अलाउंस. इन सभी खर्च को वर्क फ्रॉम होम में शामिल कर टैक्स पर छूट ली जा सकती है। वैभव अगर 22,000 रुपये का फूड कूपन, 60,000 रुपये का एलटीए और 60,000 का गैजेट अलाउंस लेते हैं, तो उनका सालाना टैक्स 42,500 रुपये तक बच सकता है। वैभव अपने माता-पिता के लिए एक हेल्थ कवर ले सकते हैं जिससे उन्हें 7,000 रुपये टैक्स बचाने में मदद मिलेगी. इस तरह वैभव आसानी से 2.27 लाख रुपये का टैक्स बचा सकते हैं।