तीन महीने में बैंकों को लगा 31 हजार करोड़ का चुना

इसके जवाब में रिजर्व बैंक ने बताया है कि वर्तमान वित्तीय वर्ष की तिमाही में कुल 18 बैंक में 2,480 फ्रॉड के मामले रजिस्टर्ड हुए हैं।

0
money

नीमच। वित्तीय वर्ष 2019 की पहली तिमाही में सार्वजनिक क्षेत्र के कुल 18 बैंकों में 24,80 फ्रॉड के मामले दर्ज हुए हैं। जिसमें 31 हजार करोड़ से ज्यादा की धनराशि शामिल है। यह चौंकाने वाली जानकारी आरबीआई ने नीमच के एक आरटीआई कार्यकर्ता को दी।

आरटीआई कार्यकर्ता चंद्रशेखर गौड़ ने आरटीआई के तहत आरबीआई से पूछा था कि वित्तीय वर्ष की तिमाही 1 अप्रैल 2019 से जून तक सार्वजनिक क्षेत्र के कितने बैंक हैं जिसमे कितने बैंकिंग फ्रॉड के मामले दर्ज़ हुए हैं? इसमें कितनी धनराशि शामिल है? और कितनी राशि का नुकसान हुआ है?

इसके जवाब में रिजर्व बैंक ने बताया है कि वर्तमान वित्तीय वर्ष की तिमाही में कुल 18 बैंक में 2,480 फ्रॉड के मामले रजिस्टर्ड हुए हैं। जिसमें कुल 31 हजार 898।63 करोड़ की राशि शामिल है। स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, पंजाब नेशनल बैंक, इलाहाबाद बैंक में सबसे ज्यादा फ्रॉड केस हुए हैं। हालांकि आरबीआई ने यह नहीं बताया कि कुल कितनी राशि का नुकसान हुआ है।

Bank fraud
Bank fraud
Bank fraud