गुप्त नवरात्रि का तीसरा दिन आज, करे माँ चंद्रघंटा की पूजा अर्चना

0
42

नई दिल्ली। आज माघ शुक्ल की गुप्त नवरात्रि का तीसरा दिन है। इस दिन माँ के चंद्रघंटा स्वरूप की पूजा की जाती है। इन्हें चंद्रघंटा इसलिए कहा जाता है। क्योंकि इनके मस्तक पर चंद्र के आकार का अर्धचंद्र बना है।

जो व्यक्ति इनकी पूजा आर्चना करता है उस देवी सुख, ऐश्वर्य, संपन्नता, प्रेम, आदि प्रदान करती है। इनकी पूजा गुलाबी के फूलों से कर इन्हें चावल की खीर का भोग लगाना चाहिए व श्रृंगार में इन्हें इत्र अर्पित करना चाहिए।

Image result for मां चंद्रघंटा की पूजा अर्चनाविशेष पूजन विधि: गुलाबी कपड़े पर देवी चंद्रघंटा का चित्र स्थापित कर विधिवत पूजन करें। नारियल तेल का दीप करें, गुलाब की अगरबत्ती करें, गुलाल चढ़ाएं, इत्र चढ़ाएं, गुलाब के फूल चढ़ाएं चावल की खीर का भोग लगाएं व स्फटिक की माला से इस विशेष मंत्र का 108 बार जाप करें। पूजन के बाद भोग प्रसाद रूप में कन्या को खिलाएं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here