आइये जानते है लोहड़ी से जुड़ीं पुराणिक कथाएँ

0
176

नई दिल्ली। लोहड़ी का पर्व बड़ी धूमधाम से मनाया जाता है। स्वादिष्ट पकवान बनाए जाते है। यह त्यौहार पंजाब प्रांत में विशेष रूप में मनाया जाता है। हर साल 13 जनवरी को लोहड़ी सर्दी कम होने और फसलों के तैयार हो जाने की खुशी के रूप में मनाया जाता है।

लोहड़ी के दिन महिलाएं रात को गीत संगीत गाती है हंसी-मजाक किया जाता है पर क्या आपको पता है। लोहड़ी बनाने का क्या कारण है या इसके पीछे क्या कोई पुराणिक कथा है तो आइये जानते है इसकी कथा।

Related image

ऐसी मान्यता है क‌ि भगवान श्री कृष्‍ण के समय से ही लोहड़ी का त्योहार मनाया जाता है। इस व‌िषय में एक कथा है क‌ि भगवान श्री कृष्‍ण के जन्म के बाद कंस ने श्री कृष्‍ण को मारने की बहुत कोश‌िश की और इसके ल‌िए उसने कई असुरों और राक्षसों को गोकुल भेजा। इस क्रम में कंस ने एक लोह‌िता नाम की राक्षसी को गोकुल भेजा था।

Image result for आइये जानते है लोहड़ी से जुड़ी पौराणिक कथाएँ

जब लोह‌िता गोकुल आई तब सभी गांव वाले मकर संक्रांत‌ि की तैयारी में व्यस्त थे क्योंक‌ि अगले द‌िन मकर संक्रांत‌ि का त्योहार था। मौके का लाभ उठाकर लोह‌िता ने श्री कृष्‍ण को मारने का प्रयास क‌िया लेक‌िन श्री कृष्‍ण ने खेल ही खेल में लोह‌िता का वध कर द‌िया।

Image result for आइये जानते है लोहड़ी से जुड़ी पौराणिक कथाएँ

लोहड़ी का पर्व भगवान शिव और सती से भी जुड़ी है। मान्यता के अनुसार दक्ष प्रजापति की बेटी सती के आग में समर्पित होने के कारण यह त्योहार मनाया जाता है।लोहड़ी के त्योहार के अवसर पर जगह-जगह अलाव जलाकर उसके आसपास भांगड़ा-गिद्धा क‍िया जाता है।

Related image

LEAVE A REPLY