वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड्स ने किया देश-विदेश में बेहतर कार्य करने वाली प्रतिभाओं का सम्मान

इस सम्मान समारोह में बीकानेर के पवन व्यास को सबसे छोटी पगड़ी और सबसे बड़ी पगड़ी बनाने का वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड्स प्रदान किया गया, नानुराम कुमावत को घर घर भगवा हर घर भगवा के तहत एक दिन में एक लाख दस हजार झंडे लगवाने के लिए वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड्स दिया गया

इन्दौर। वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड्स द्वारा आयोजित प्रतिभा सम्मान समारोह में देश के विभिन्न राज्यों के साथ-साथ विदेश से आई प्रतिभाओं को सम्मानित किया गया। इस सम्मान समारोह में अतिथियों के रूप में विली जेज़लर (यूरोप हेड , वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड्स), राकेश के शुक्ला (राजनायिक), श्याम जाजू (वरिष्ठ भाजपा राजनीतिज्ञ), जस्टिस रमेश गर्ग (पूर्व चीफ जस्टिस, असम हाईकोर्ट), पूनम जेज़लर (अध्यक्ष, वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड्स, स्विट्जरलैंड), दिनेश जैन, आईएएस (जिलाधिकारी एवं कलेक्टर, शाजापुर ) तथा अन्य अतिथिगण शामिल हुए। उक्त जानकारी वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड्स के अध्यक्ष संतोष शुक्ला, एडवोकेट ने दी।

Must Read- मुख्यमंत्री उद्यम क्रांति योजना की मदद से युवा प्रारंभ कर सकते हैं अपना रोजगार

इस अवसर पर वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड्स के 5 वर्ष पूर्ण होने पर प्रकाशित पुस्तक – 5 वर्ष 500 कार्यक्रम का अतिथियों द्वारा विमोचन किया गया तथा प्रख्यात शिव कथावाचक पंडित प्रदीप मिश्रा एवं दिनेश जैन (डीएम एवं कलेक्टर जिला शाजापुर) को सम्मानित किया गया एवं भारत कीर्तिमान द्वारा अतिथियों को सम्मानित किया गया। शुक्ला ने बताया कि इस सम्मान समारोह में देश-विदेश में अलग-अलग विधाओं में विश्व कीर्तिमान बनाने वाली प्रतिभाओं एवं बाल प्रतिभाओं को रिकॉर्ड सर्टिफिकेट अतिथियों द्वारा प्रदान किए गए।

इस सम्मान समारोह में बीकानेर के पवन व्यास को सबसे छोटी पगड़ी और सबसे बड़ी पगड़ी बनाने का वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड्स प्रदान किया गया, नानुराम कुमावत को घर घर भगवा हर घर भगवा के तहत एक दिन में एक लाख दस हजार झंडे लगवाने के लिए वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड्स दिया गया , इसी तहत शाजापुर के कलेक्टर दिनेश जैन को १२ घंटे में २०८० यूनिट ब्लड यूनिट डोनेट करवाने के लिए ,तथा पंडित प्रदीप मिश्रा को यू ट्यूब पर एक लाख 21 हजार फालोआर्स ,तथा फेसबुक पर २६ हजार श्रोताओं एक साथ लाईव शिवपुराण कथा सुनने के लिए सम्मानित किया गया l,इसीतरह उड़ीसा के एक बच्ची साईं समपर्ना को दो वर्षसात माह की उम्र में 48 सेकेन्ड में राष्ट्रीय गान गा कर रिकार्ड बनाने के लिए सम्मानित किया गया दिल्ली ली के मास्टर अरोरा को सबसे छोटे टेडेक्स स्पीकर होने का सम्मान प्रदान किया गया l