17 मई को भोपाल में होगा आयोजन, डॉ. प्रकाश हिन्दुस्तानी को मिलेगा देवर्षि नारद सम्मान

भोपाल के रवीन्द्र भवन(Ravindra Bhavan) में 17 मई, मंगलवार की शाम साढ़े तीन बजे मीडियावाला के सलाहकार और वरिष्ठ पत्रकार डॉ प्रकाश हिन्दुस्तानी(Dr. Prakash Hindustani) को देवर्षि नारद सम्मान प्रदान किया जाएगा।

भोपाल : भोपाल के रवीन्द्र भवन(Ravindra Bhavan) में 17 मई, मंगलवार की शाम साढ़े तीन बजे मीडियावाला के सलाहकार और वरिष्ठ पत्रकार डॉ प्रकाश हिन्दुस्तानी(Dr. Prakash Hindustani) को देवर्षि नारद सम्मान प्रदान किया जाएगा। इस अवसर पर ‘विश्व पटल पर भारत : मीडिया की भूमिका’ विषय पर परिचर्चा भी होगी। आयोजन में मुख्य वक्ता राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सरकार्यवाह डॉ. मनमोहन वैद्य और मुख्य अतिथि न्यूज़ इण्डिया 24 /7 के प्रधान सम्पादक विजय त्रिवेदी होंगे।

विश्व संवाद केन्द्र ने पिछले कुछ वर्षों से प्रतिवर्ष पत्रकारिता पर सम्मान और पुरस्कार देने की परंपरा आरंभ की है । प्रतिवर्ष एक ऐसे वरिष्ठ पत्रकार को सम्मानित किया जाता है, जिन्होंने अपना पूरा जीवन पत्रकारिता को समर्पित किया है । जिनकी पत्रकारिता ध्येयनिष्ठ रही हो और जिनकी पत्रकारिता में समाज निर्माण का भाव अंतर्निहित हो। बिना किसी की परवाह, निर्भीकता पत्रकारिता उनके जीवन जीवन में रही हो । ऐसे वरिष्ठ सम्मान के लिए 2020 वर्ष इंदौर के डॉ. प्रकाश हिन्दुस्तानी का चयन किया गया।

Read More : Vegetable Price : 5 रुपए किलो मिल रही ये सब्जी, भिंडी, तोरई, करेला, लौकी, टमाटर भी हुए सस्ते, देखे रेट

वे देश के ऐसे पत्रकार हैं, उन्होंने वेब पत्रकारिता की शुरुआत की । उन्होंने वेब पत्रकारिता में पहली पीएच-डी की है । उन्हे प्रिन्ट, वेब और इलेक्ट्रानिक मीडिया, तीनों में महारत रही है। इस सम्मान के लिए चयन समिति एक-एक पत्रकार की सेवाओं की विस्तृत समीक्षा करती है, तब जाकर नाम का चयन होता है। इस अवसर पर युवा पत्रकारिता के लिए अंजलि राय, राहुल शर्मा और श्रीकांत त्रिपाठी को पुरस्कृत भी किया जाएगा।

Read More : ये है Soha Ali Khan की ग्लोइंग स्किन का राज, आप जरूर Try करें

विश्व संवाद केन्द्र प्रतिवर्ष इस संबंधी एक भव्य आयोजन करता है। 2020 व 2021 में लॉकडाउन के कारण यह आयोजन नहीं हो पाया था। विश्व संवाद केन्द्र ने कोरोना के चलते विगत वर्ष यह आयोजन ऑनलाइन किया था, जिसमें अतिथि के रूप में सुविख्यात फिल्म निर्माता विवेक अग्निहोत्री जी ने संबोधित किया था।