परीक्षा परिणाम आते ही छात्र-छात्राएं क्यों करने लगते हैं आत्महत्या | Why do Students Committing Suicide after Seeing Results

0
83
students

10वीं और 12वीं के रिजल्ट आने के बाद से ही जो छात्र पास नहीं हुए है या जो भी परीक्षा में अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाए वे निराश तो होगे ही। अपनी इस असफलता पर छात्र ऐसा कोई कदम उठाए जिससे उसे ही हानि हो यह तो सही नहीं है। छात्र अपने असफल रिजल्ट से इतना हताश हो जाते है कि वे आत्महत्या ही कर लेते है। ऐसा ही एक मामला इंदौर शहर में सामने आया है।

इंदौर के महादेव नगर में रहने वाले 12वीं के एक छात्र ने फेल होने पर जहरीली गोलियां खाकर जान दे दी। छात्र को इस बात का बुरा लग रहा था कि उसके सारे दोस्त पास हो गए और वह फेल हो गया था।

पीपल्यापाला के गोल्डन फीचर स्कूल में पढ़ने वाले 19 वर्षीय शिव गोयल ने गुरूवार रात को जहर खा लिया जिसकी खबर लगते ही परिवार वाले छात्र को अस्पताल लेकर गए जहां शुक्रवार को छात्र ने दम तोड़ दिया।

शिव के पिता प्रभु गोयल दवा बाजार में हम्माली करते है उन्होंने बताया कि “वह पहले 10 वीं में फेल हो गया था। जिसके बाद उन्होंने उसे समझाया था कि अगले साल अच्छे से मेहनत कर लेना। 12 वीं में दोबारा जब वह फेल हुआ तो हमने उसे डांटा नहीं और यही समझाया कि अगले साल अच्छे से पढ़ाई करना”।

छात्र के पिता ने कहा की “वह गुरूवार को दवा बाजार से काम पर से आने के बाद सामान्य था लेकिन रात में अचानक वह उल्टियां करने लगा तो मैंने उसे निंबू पानी बनाकर दिया। उसने हमे बताया ही नहीं कि उसने जहर खाया है उसकी हालत ज्यादा बिगड़ी तो हम उसे अस्पताल ले गए लेकिन शुक्रवार को दोपहर में उसने दम तोड़ दिया”। छात्र शिव के पिता के मुताबिक उसे बुरा लग रहा था कि वह फेल हो गया और उसके सभी दोस्त पास हो गए थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here