छात्रा ने क्यों रोका CM शिवराज सिंह चौहान का काफिला, जानिए पूरा मामला

मध्य प्रदेश के कटनी जिले में यूथ महापंचायत आयोजित की गई थी. इसमें मुख्यमंत्री शिवराज सिंह भी शामिल हुए.

मध्य प्रदेश के कटनी जिले में यूथ महापंचायत आयोजित की गई थी. इसमें मुख्यमंत्री शिवराज सिंह भी शामिल हुए. यहां कटनी की एक छात्रा ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह का काफिला रोक लिया. स्नातक की द्वितिय वर्ष की छात्रा अंकिता ने ने सीएम शिवराज सिंह चौहान से आगे की पढ़ाई और आईएएस अफसर बनने में मदद की बात कही. हालांकि सीएम ने भी कहा कि मामा जरूर भांजी की आर्थिक मदद करेंगे. इसके बाद सीएम शिवराज सिंह ने छात्रा के रहने और पढ़ाई के बारे में इंतजार करने के निर्देश अधिकारियों को दे दिए हैं.यूथ महापंचायत में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के संबोधन के बाद अंकिता ने सीएम शिवराज सिंह चौहान का रास्ता रोका. सीएम शिवराज सिंह चौहान से कहा कि भांजी आगे पढ़ना चाहती है. अंकिता बीएससी की पढ़ाई भोपाल में रहकर ही करना चाहती है. इसके बाद आईएएस बनने का सपना देखा है. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अंकिता की आगे की पढ़ाई की सारी व्यवस्थाएं कराने की बात कही. पढ़ाई को लेकर सीएम शिवराज सिंह चौहान ने अधिकारियों को निर्देश दिए.

Also Read – महाकलेश्वर मंदिर का क्राउड मेनेजमेंट फ़ैल, चारधाम मंदिर के यहां भीड़ में दबे श्रद्धालु

दरअसल अंकिता दुबे कटनी के स्लीमनाबाद की रहने वाली है. अंकिता बीए. सेकंड ईयर की पढ़ाई कर रही है. अंकिता बीए की जगह बीएससी करना चाहती है. बीएससी के बाद आईएएस बनना चाहती है. अंकिता का कहना है कि वह भोपाल में ही रहकर पढ़ाई करना चाहती है ताकि IAS बनने का ख्वाब पूरा हो सके.

इसके लिए हॉस्टल के साथ पढ़ाई की तमाम व्यवस्थाएं कराने को लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से बात की है. परिवार की आर्थिक स्थिति अच्छी ना होने के चलते पढ़ाई पूरी करने में परेशानियां हो रही हैं. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से आगे की पढ़ाई जारी रखने को लेकर मदद मुहैया कराने की बात कही है. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अधिकारियों को बच्ची की पढ़ाई को लेकर सारी व्यवस्थाएं कराने के निर्देश दिए हैं.
कटनी के स्लीमनाबाद की रहने वाले अंकिता की आर्थिक स्थिति अच्छी नही है. ..अंकिता के पिता वॉचमैन का काम करते हैं. अंकिता की तीन बहने हैं. आर्थिक स्थिति कमजोर होने के चलते पढ़ाई में परेशानियां आ रही थी. सीएम शिवराज सिंह चौहान के अधिकारियों को दिशा निर्देश देने के बाद से अंकिता खुश है. अंकिता को विश्वास है कि सीएम शिवराज सिंह चौहान की मदद के बाद उनकी आगे की पढ़ाई जारी रहेगी.