कांग्रेस नेता और पूर्व मंत्री राजा पटेरिया का विवादित बयान मामला थमने का नाम नहीं ले रहा है। पटेरिया की प्रधानमंत्री मोदी पर आपत्तिजनक टिप्पणी के बाद मध्य प्रदेश के मुखयमंती शिवराज सिंह चौहान ने आपत्ति जताई हे साथ ही गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने पटेरिया पर एफ आई आर की बात कही है।

गृह मंत्री ने जताई आपत्ति

गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि ” मैंने पटेरिया जी के बयान को सुना है और निश्चित तौर पर उससे यह स्पष्ट होता है कि अब यह महात्मा गांधी की कांग्रेस नहीं है, उसे तो इन्होंने आजादी के बाद ही खत्म कर दिया था, यह इटली की कांग्रेस है और इटली की मानसिकता मुसोलिनी वाली रहती है। जिस तरह इनकी यात्रा में स्वरा भास्कर, सुशांत सिंह और कन्हैया कुमार जी चल रहे हैं यह इस बात की पुष्टि करता है। नरोत्तम ने कहा मैं प्रधानमंत्री पर पटेरिया जी द्वारा की गई इस बेहद आपत्तिजनक टिप्पणी के लिए एसपी को तत्काल एफआईआर कराने के निर्देश दे रहा हूं।

वी डी शर्मा ने भी किया विरोध

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा ने भी पटेरिया के बयान पर नाराजगी जाहिर की है उन्होंने कहा की प्रधानमंत्री की हत्या करने के लिए जनता और कांग्रेस कार्यकर्ताओ को बढ़काना अत्यंत निंदनीय है क्या हाल ही में मध्यप्रदेश में हुई राहुल गाँधी की भारत जोड़ो यात्रा में इस साजिश की तैयारी हुई थी इसकी जाँच होनी चाहिए

मुख्यमंत्री की दो टूक चेतावनी

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने पूर्व मंत्री राजा पटोरिया के बायां को लेकर सीधे शब्दों में कहा है कि इस तरह की चीजों को किसी भी हालत में सहन नहीं किया जाएगा। उन्होंने आगे कहा कि “भारत जोड़ो यात्रा का ढोंग करने वाले लोगों की सच्चाई सामने आ रही है। माननीय मोदी जी जनता के दिलों में बसते हैं, वह संपूर्ण देश की श्रद्धा और आस्था का केंद्र हैं, कांग्रेस और कांग्रेस के लोग मैदान में उनसे मुकाबला नहीं कर सकते। इसलिए कांग्रेस के एक नेता मोदी जी की हत्या की बात कर रहे हैं। उनका यह कथन विद्वेष की पराकाष्ठा है, घृणा की अति है , इन बयानों से कांग्रेस के असली भाव प्रकट हो रहे हैं। एफआईआर की जा रही है और अब आगे कानून अपना काम करेगा।

यह है पूरा मामला

गौरतलब है की इस विवाविद वीडियो में राजा पटेरिया प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बारे में बात करते हुए नजर आ रहे हैं और इसी दौरान वो कहते हैं कि यदि संविधान को बचाना है तो मोदी की हत्या करने के लिए तैयार रहो। हालांकि बाद में नेताजी वीडियो में हत्या शब्द को हार की परिभाषा देते हुए नजर आ रहे हैं और कह रहे हैं हत्या मतलब हार। इस मामले पर विवाद खड़ा होने के बाद पटेरिया ने कहा है कि उनके द्वारा कही गई बात को गलत तरीके से पेश किया गया है और उनका अर्थ कुछ और था।