Shiva Temple: महाशिवरात्रि आने से पहले ही मंदिरों में सजावट जोर-शोर से चालू कर दी गई है। बता दें कि सभी भगवान शिव की आराधना करते हुए नजर आते हैं। इतना ही नहीं पंडित प्रदीप मिश्रा सीहोर वाले की कथा वाचन के बाद सभी लोगों के बीच में भगवान भोलेनाथ को लेकर काफी ज्यादा उत्सुकता देखने को मिल रही है। महिलाएं सुबह ही उठकर भगवान भोलेनाथ की आराधना करने मंदिर से जाती है, और बेलपत्र और दूध चढ़ाती है।

भारत अपनी संस्कृति और अपनी सभ्यताओं के लिए जाना चाहता है। कई प्राचीन मंदिर मौजूद है जिन की परंपरा काफी ज्यादा अलग देखने को मिलती है। आज हम आपको एक ऐसे ही भगवान शिव के मंदिर के बारे में बताने जा रहे हैं। जहां पर लोग बिल पत्र के साथ ही जिंदा केकड़े को भी चढ़ाते हैं। यह वीडियो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है और लोग भी इसको लेकर काफी ज्यादा उत्साहित हैं।

हम जिस शिव मंदिर के बारे में बात करने जा रहे हैं यह गुजरात के सूरत जिले में आता है जहां पर भक्त भगवान भोलेनाथ की आराधना करने के साथ ही पन्नी में चढ़ाने के लिए जिंदा के कड़े ले जाते हैं। हाल ही में एक ऐसा ही वीडियो न्यूज़ एजेंसी ANI ने शेयर किया है जो कि काफी ज्यादा वायरल हो रहा है जिसमें देखा जा सकता है कि किस तरह से महिलाएं जिंदा केकड़े को लाती है और भगवान भोलेनाथ के शिवलिंग पर चढ़ाती हैं।

Also Read: जानिए विष्णु पुराण के उस अध्याय के बारे में, जिसमे कलयुग को लेकर है कई खुलासे

यह मामला सूरत के शिव घेला मंदिर का बताया जा रहा है जहां पर लोग जिंदा केकड़े चढ़ाते हुए नजर आते हैं। यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद से ही काफी ज्यादा चर्चाओं में है। वीडियो में साफ तौर पर देखा जा सकता है कि कई श्रद्धालु यहां पर आस्था और भक्ति के साथ में आते हैं। अपने साथ जीवित के केकड़ों को लेकर आते हैं।

मंदिर में सुबह से ही भक्तों का तांता लगा हुआ रहता है। इस परंपरा को लेकर मंदिर में दर्शन करने आने वाले श्रद्धालुओं का कहना है कि इस तरह से जिंदा केकड़ों को चढ़ाने के बाद कान से संबंधित समस्या से निजात मिल जजाती है। श्रद्धालुओं का कहना है कि बच्चों में कानों में दर्द की जो समस्या होती है वह इस तरह से चढ़ावा चढ़ाने से दूर हो जाती है।