शराबबंदी को लेकर उमा भारती ने खोला मोर्चा, पत्थर मारना अपराध है अब कुछ और मारेंगे

उमा भारती की नशा मुक्ति चौपाल के पास कई समर्थकों की भीड़ लग गई  इस दौरान उन्होंने लोगों को शराब नहीं पीने की नसीहत भी दी है।

पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने एक बार फिर से शराबबंदी को लेकर मोर्चा खोल दिया है। होशंगाबाद रोड स्थित शराब दुकान के पास उमा भारती ने सड़क पर नशा मुक्ति की चौपाल लगाकर लोगों को नसीहत दे रही है और शराब का सेवन नहीं करने की लोगों से अपिल कर रही हैं। इस दौरान उमा भारती ने कहा है कि अब पत्थर नहीं मारेंगे क्योंकि पत्थर मारना तो अपराध है, अब कुछ और ही मारेंगे।

भोपाल की एक शराब दुकान पर पत्थर फेंकने के बाद मंगलवार को शहर के आशिमा मॉल के पास स्थित शराब दुकान और आहत के सामने उमा भारती ने अपनी चौपाल लगाई है। उमा भारती की नशा मुक्ति चौपाल के पास कई समर्थकों की भीड़ लग गई  इस दौरान उन्होंने लोगों को शराब नहीं पीने की नसीहत भी दी है।

Must Read- कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने बुलाई बैठक, महापौर पद के नामों पर 9 जून को होगा विचार

उमा भारती ने टीआई से कहा कि मैं 3 दिन बाद यहां पर पुनः आऊंगी और पूरी रात यहीं पर रहूंगी, चुपके से मेरा व्यक्ति स्टिंग करेगा। दरअसल यह मामला मिरसोद थाना क्षेत्र का है। जहां पर उमा भारती एक पाटीदार परिवार के यहां से लौटते समय शराबबंदी को लेकर मोर्चा खोला।  उमा भारती ने नशे के खिलाफ धरना प्रदर्शन किया और इस दौरान चौपाल लगाकर शराब नहीं पीने की लोगों से अपील की है ।