इंदौर कृषि कॉलेज के प्रतिनिधि मंडल ने माननीय सांसद श्री शंकर लालवानी जी से कृषि महाविद्यालय के मुद्दों को लेकर मुलाकात की

0
41

इंदौर कृषि महाविद्यालय के प्रतिनिधि मंडल ने आज इंदौर के सांसद माननीय श्री शंकर लालवानी जी से निजी विश्वविद्यालय द्वारा गलत तरीके से बीएससी एग्रीकल्चर की डिग्री दिए जाने के विरोध में एवं इंडियन कौंसिल ऑफ एग्रीकल्चरल रिसर्च नई दिल्ली को एक पावरफुल रेगुलेटरी बॉडी बनाने के पक्ष में ज्ञापन सौंपा. इंदौर कृषि महाविद्यालय के प्रमुख आंदोलनकारी श्री राधे जाट ने सांसद जी को बताया कि जिस तरह मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया भारत के सारे प्राइवेट एवं शासकीय मेडिकल कॉलेजों को कंट्रोल करती है उसी प्रकार इंडियन काउंसिल आफ एग्रीकल्चरल रिसर्च के अंडर में भारत के सारे प्राइवेट एवं शासकीय कृषि विश्वविद्यालयों को उसके दायरे में लाया जाए.

इंदौर कृषि महाविद्यालय के भूतपूर्व छात्र श्री नीरज राठौर में माननीय सांसद जी को बताया कि मध्यप्रदेश में विगत 6 वर्षों से यह धांधली चल रही है जबकि मध्य प्रदेश के अन्य पड़ोसी राज्यों जैसे छत्तीसगढ़, राजस्थान, गुजरात में इस तरह की धांधलीओं पर अंकुश लग चुका है. इंदौर कृषि महाविद्यालय के वर्तमान छात्र श्री रोहित करौरे ने माननीय सांसद जी को बताया की आईसीएआर के रेगुलेटरी बॉडी बनने से पूरे भारत में इस तरह की धांधली पर रोक लग सकती है, न्होंने कहा की वर्तमान में आईसीएआर का रेगुलेटरी बॉडी ना होना एक बहुत बड़ी कमजोरी है एवं यह भारत सरकार की विफलता है.

इंदौर कृषि महाविद्यालय के श्री रणजीत जाट ने कहा की यदि देश के किसानों को एवं किसान पुत्रों को बचाना है एवं खेती को बचाना है तो हमें इस मुद्दे को जल्द से जल्द हल करना होगा, उन्होंने कहा कि यह भारत सरकार की भी जिम्मेदारी है कि वह कृषि जैसे प्राथमिक क्षेत्र पर ध्यान देवें एवं कृषि स्नातक की डिग्री बांट रहे प्राइवेट विश्वविद्यालय पर लगाम लगाएं. इस अवसर पर माननीय सांसद श्री लाल वाणी जी ने प्रतिनिधिमंडल को यह भरोसा दिलाया कि वे इस मुद्दे को भारत सरकार के सामने उठाएंगे उन्होंने कहा कि वह जल्द से जल्द केंद्रीय कृषि मंत्री को इस संबंध में पत्र लिखकर आईसीएआर को रेगुलेटरी बॉडी बनाने का आग्रह करेंगे उन्होंने कहा कि वह जरूरत पड़ने पर भारत के प्रधानमंत्री माननीय श्री नरेंद्र मोदी जी को भी पत्र लिखकर कार्रवाई करने का कहेंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here