शिमला। हिमाचल प्रदेश में सुखविंदर सिंह सुक्खू कैबिनेट का आज विस्तार हो गया है। शिमला में राजभवन में 7 विधायकों ने मंत्री पद की शपथ ली। राज्य के पूर्व मुख्यंत्री वीरभद्र सिंह के बेटे विक्रमादित्य सिंह को भी मंत्रीमंडल में शामिल किया गया है। जिन विधायकों को कैबिनेट मंत्री बनाया गया है उनके नाम डॉ धनी राम शांडिल, चंदर कुमार, हर्षवर्धन चौहान, जगत सिंह नेगी, रोहित ठाकुर, अनिरुद्ध सिंह और विक्रमादित्य सिंह शामिल हैं।

सबसे पहले पूर्व मंत्री और पूर्व लोकसभा सदस्य तथा सोलन से सबसे पुराने विधायक धनी राम शांडिल ने पद तथा गोपनीयता की शपथ ली। इसके बाद सिरमौर के शिलाई से 6 बार के विधायक हर्षवर्धन चौहान, किन्नौर के पूर्व डिप्टी स्पीकर जगत सिंह नेगी, पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह बेटे शिमला ग्रामीण से विधायक विक्रमादित्य सिंह, कांगड़ा के जवाली से चंदर कुमार, कुसुमपट्टी से विधायक अनिरुद्ध सिंह और जुब्बल-कोटखाई से चार बार के विधायक रोहित ठाकुर को मंत्री पद की शपथ दिलाई गई।

Also Read – वरुण धवन की इस हरकत के बाद कियारा आडवाणी और सिद्धार्थ मल्होत्रा का हो गया था ब्रेकअप!

मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू (Chief Minister Sukhwinder Singh Sukhu) ने शनिवार को कहा था कि उन्होंने अपने मंत्रिमंडल में शामिल करने के लिए संभावितों की सूची मंजूरी के लिए कांग्रेस आलाकमान को सौंप दी है। उन्होंने दिल्ली से लौटने के बाद यहां संवाददाताओं से कहा था कि मंत्रिमंडल का विस्तार रविवार या उसके बाद संभव है। राज्यपाल राजेंद्र विश्वनाथ आर्लेकर ने सात मंत्रियों को पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई। इस बीच मंत्रिमंडल में शिमला जिले से सबसे ज्यादा 3 मंत्री बनाए गए हैं। जबकि कांगड़ा, सिरमौर, सोलन, और किन्नौर जिले से एक- एक मंत्री बनाए गए हैं।

उपमुख्यमंत्री मुकेश अग्निहोत्री, मुख्यमंत्री के राजनीतिक सलाहकार सुनील शर्मा, मुख्यमंत्री के प्रधान सलाहकार मीडिया नरेश चौहान, मुख्य सचिव प्रबोध सक्सेना, अन्य वरिष्ठ अधिकारी और नवनियुक्त मुख्य संसदीय सचिवों के परिवार के सदस्य भी इस अवसर पर उपस्थित थे। दिसंबर में विधानसभा चुनाव के नतीजों में कांग्रेस को जीत मिली थी। इसके बाद 11 दिसंबर को मुख्यमंत्री के रूप में सुखविंदर सिंह सुक्खू और डिप्टी सीएम के रूप में मुकेश अग्निहोत्री ने पद एवं गोपनियता की शपथ ली थी।