सासाकावा-इंडिया लेप्रोसी फाउंडेशन ने कुष्ठरोग से मुक्ति के लिए वाईआई से किया गठबंधन

leprosy
leprosy

नई दिल्ली। सासाकावा-इंडिया लेप्रोसी फाउंडेशन (Sasakawa-India Leprosy Foundation S-ILF) कुष्ठरोगियों(leprosy) एवं उनके परिवारों के सामाजिक-आर्थिक सशक्तीकरण के लिए समर्पित है। कॉन्फेडरेशन ऑफ इंडियन इंडस्ट्री (Elimination Confederation of Indian Industry ECII) के सहयोग से, एस-आईएलएफ(S-ILF) ने एक मल्टी-स्टेकहोल्डर वार्ता में मजबूत सामाजिक नेटवर्क बनाने के बारे में चर्चा की, ताकि कुष्ठरोगी(leprosy) गरिमापूर्ण जीवन व्यतीत कर सकें और उन्हें मौलिक मानवाधिकार, शिक्षा, आजीविका एवं स्वास्थ्य के समान अवसर मिलें।

श्री तरुण दास, चेयरमैन, एस-आईएलएफ(Mr. Tarun Das, Chairman, S-ILF) ने कुष्ठरोग के लिए एस-आईएलएफ एवं कॉर्पोरेट्स द्वारा मिलकर काम करने के महत्व पर बल दिया। इस तरह की साझेदारियां मौजूदा समय में कोविड महामारी के दौरान और भी ज्यादा आवश्यक हो गई हैं, जिसके चलते कुष्ठरोगियों की कॉलोनियों में रहने वाले लोगों के स्वास्थ्य और आजीविका पर बुरा असर पड़ा है।

must read: इन 4 आसान तरीकों से कर सकते है पेट की चर्बी को गायब

इस बैठक में यंग इंडियंस-सीआईआई (वाईआई) और एस-आईएलएफ के बीच गठबंधन(Alliance between Young Indians-CII(YI) and S-ILF) हुआ। इस अवसर पर, मिस स्मिता अग्रवाल, नेशनल चेयर, वाईआई ने बताया कि यंग इंडियंस आम समुदाय में बीमारी की जागरुकता बढ़ाने के लिए प्रतिबद्ध है और इस तरह के सामूहिक प्रयासों से भारत को कुष्ठरोग से मुक्ति दिलाने में काफी मदद मिलेगी।

यंग इंडियंस सीआईआई का अभिन्न अंग है, जिसके सदस्यों में युवा व प्रगतिशील भारतीय, उद्यमी, प्रोफेशनल्स एवं विभिन्न क्षेत्रों में उपलब्धिकर्ता शामिल हैं। यूथ इंडस्ट्री के 200 से ज्यादा युवा इस ऑनलाईन ईवेंट में सम्मिलित हुए।