रिजर्व बैंक गवर्नर बोले- दुनिया के सबसे कम कर्ज वाले देशों में से एक है भारत

0
98
shaktikanta -das

नई दिल्ली। अमेरिका और चीन के बीच चल रहे ट्रेड वार और खाड़ी देश के तेल प्लांटों पर हुए ड्रोन अटैक से दुनियाभर में हलचल है। इसका असर यह हुआ कि भारत धीरे-धीरे मंदी की चपेट में आता जा रहा है। जीडीपी में आई गिरावट के बाद मंदी से बाहर निकलने के लिए सरकार कई अहम फैसले ले रही है। इसी बीच आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा कि अमेरिका और चीन के बीच व्यापारिक तनाव के कारण मंदी की आहट है, लेकिन वैश्विक मंदी की कोई स्थिति नहीं है। उन्होंने कहा कि भारत अर्थव्यवस्था में लगातार सकारात्मक घटनाक्रम हो रहे हैं, जिससे सुस्ती से पार पाना आसान हो जाएगा।

ब्लूमबर्ग इंडिया इकोनॉमिक फोरम 2019 में अपने संबोधन में दास ने कहा कि जीडीपी की तुलना में महज 19.7 फीसदी कर्ज के साथ भारत दुनिया के सबसे कम कर्ज वाले देशों में से एक है। जीडीपी की तुलना में भारत के आयात और निर्यात में सुधार हो रहा है। उन्होंने मौजूदा सुस्ती के लिए मांग और निवेश में कमी को जिम्मेदार ठहराया, लेकिन उन्होंने सरकार के पास वित्तीय प्रोत्साहन के लिए सीमित गुंजाइश होने की भी बात कही।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here