इंदौर में स्वर्ण रथ पर विराजमान होकर नगरसेठ के रूप में बाबा रणजीत हनुमान के श्रृंगारित स्वरूप को निहारने हजारों की संख्या में भक्त साथ चले। किसी ने हाथों से फूल बरसाए तो कोई ध्वजा लहराकर बाबा रणजीत के जयकारे लगा रहा था। बाबा महाकाल की सवारी की तर्ज पर पूरे लाव-लश्कर के साथ भक्तों को दर्शन देने बाबा रणजीत का रथ जैसे-जैसे आगे बढ़ा, भक्तों की भीड़ बढ़ती गई।

हाथों में भगवा ध्वजा लिए महिलाएं और पुरुष। जय रणजीत के जयकारों की गूंज, जिधर भी देखे हनुमान के भक्तों की भीड़-भीड़। विभिन्न किस्म के फूलों से सजा स्वर्ण रथ बहुत ही अद्भुत नजारा दे रहा है। स्वर्ण रथ में विराजित रणजीत हनुमान जी के दर्शन के लिए सभी श्रद्धालु सुबह से एकत्रित हो कर दादा का जयकारा लगा रहे है। ठंड के बीच बाबा के दर्शन कर उनका आशीर्वाद लेने की दृढ़ इच्छा लेकर भक्त अभी भी पहुँच ही रहे है। बाबा की प्रभात फेरी का स्वागत करने के लिए सड़क किनारे कई मंच भी लगे। अलसुबह के एहसास और लाइटिंग की बीच रणजीत हनुमान मंदिर से भव्य प्रभात फेरी का आनंद सभी मधुरभाव से ले रहे है।

Also Read – Ranjeet Hanuman Prabhat Feri: स्‍वर्णरथ पर सवार होकर बाबा ने किया नगर भ्रमण, एक लाख से ज्यादा लोग हुए शामिल

जानकारी के मुताबिक बता दें प्रभात फेरी रणजीत हनुमान मंदिर से सुबह 5 बजे के पहले ही शुरू हो गई थी। जो दो घंटे में महू नाका पहुंची। यहां से दो घंटे बाद यानी सुबह 9 बजे दशहरा मैदान तक पहुंची। यहां अब तक एक लाख से ज्यादा श्रद्धालु दर्शन कर चुके हैं। जैसे-जैसे बाबा रणजीत का स्वर्ण रथ आगे बढ़ रहा है, वैसे-वैसे भक्तों की संख्या भी बढ़ती जा रही है। लोग परिवार के साथ बाबा के दर्शन करने पहुंच रहे हैं। महिलाएं अपने छोटे-छोटे बच्चों को भी बाबा के दर्शन कराने लाई हैं।