Nursery class : MP प्रशासन एक्शन में, निजी स्कूल में बच्ची से दुष्कर्म के मामले में आरोपी का गिराया घर

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल बीते दिनों निजी स्कूल के बस चालक ने 3 साल की मासूम बच्ची से कथित रूप से दुष्कर्म किया। घटना की सूचना मिलते ही प्रशासन हरकत में आ गया है।

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल बीते दिनों निजी स्कूल के बस चालक ने 3 साल की मासूम बच्ची से कथित रूप से दुष्कर्म किया। घटना की सूचना मिलते ही प्रशासन हरकत में आ गया है। आरोपी के खिलाफ कार्यवाही करते हुए राजस्व विभाग, पुलिस और नगर निगम ने संयुक्त कार्रवाई की और उसके घर को तोड़ दिया गया है। फिलहाल आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है।

जिला प्रशासन के नेतृत्व में

मिली जानकारी के अनुसार, आरोपी ड्राइवर के द्वारा शाहपुरा क्षेत्र में वसंत कुंज कॉलोनी के पास टंकी के सामने गार्डन की जमीन पर कब्जा कर अवैध रूप से मकान बनाकर अतिक्रमण किया हुआ था। बच्ची से रेप के मामले में पुलिस द्वारा गिरफ्तारी की कार्रवाई के साथ ही जिला प्रशासन के नेतृत्व में अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई की गई। मकान तोड़ने से पहले ड्राइवर के परिवार से मकान को खाली करवाया गया. फिर उसके बाद कार्रवाई की गई।

अधिकारियों ने ये दिए निर्देश

कलेक्टर अविनाश लवानिया ने एसडीएम और डीईओ को निर्देश दिए हैं कि सभी स्कूल बसों (जिनमें बच्चियां आती-जाती हैं) में महिला स्टाफ जरूरी है और इसके साथ ही रिकार्डिंग कैमरे भी अनिवार्य हैं। इसके लिए लगातार सभी बसों की जांच की जाए। अलग-अलग उड़न दस्ते बनाए जाएं और बसों की समय-समय पर जांच भी होती रहे।

कलेक्टर का निर्देश है कि बच्चों को सुरक्षा की जिम्मेदारी स्कूल प्रबंधन की है। इसमें लापरवाही होने पर प्रबंधन को भी जिम्मेदार बनाया जाएगा और उनके विरुद्ध भी कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

ये था पूरा मामला

भोपाल के प्रतिष्ठित निजी स्कूल में नर्सरी कक्षा में पढ़ने वाली बच्ची के साथ स्कूल की बस के ड्राइवर ने रेप किया। बच्ची परिजनों ने पुलिस को बताया कि स्कूल से जब बच्ची घर आई तो कपड़े बदलते समय बच्ची की मां ने उसके प्राइवेट पार्ट पर निशान देखे, जिसके बाद वह हैरान रह गई। मम्मी ने जब बच्ची से पूछा तो बच्ची ने बताया कि स्कूल बस ड्राइवर बैड टच करते हैं।

इसके बाद परिजनों ने स्कूल प्रबंधन से इसकी शिकायत की तो उन्होंने आरोपों से इनकार कर दिया। इसके बाद परिजनों ने पुलिस में मामला दर्ज करवाया. पुलिस ने पोक्सो और धारा 376 के तहत केस दर्ज कर स्कूल बस ड्राइवर को गिरफ्तार कर लिया. साथ ही वहीं बस में मौजूद महिला हेल्पर को भी पुलिस ने गिरफ्तार किया।