मध्य प्रदेश (MP) के मौसम (Weather) में परिवर्तन साफ़ नजर आने लगा है। मानसून और बारिश की प्रदेश से जहां विदाई हो चुकी है, एक बार फिर बारिश की संभावना जताई जा रही है। वहीं प्रदेश के मौसम में अब हल्की गुलाबी ठंड का अहसास शुरू हो चूका है। एक तरफ जहाँ प्रदेश के विभिन्न जिलों में रात का पारा लुढ़कने लगा है, वहीं सुबह और शाम को भी अब ठंडक का दौर शुरू हो चूका है। मौसम विभाग के अनुसार प्रदेश के कई जिलों में रात के समय न्यूनतम तापमान 15 डिग्री सेल्सियस तक गिर चूका है, जो कि प्रदेश के मौसम में अच्छी ठंड की शुरुआत मानी जा रही है।

महीने के मध्य में गरज-चमक के साथ बारिश की भी संभावना

भोपाल मौसम विज्ञान केंद्र के अधिकारियों ने कहा कि उत्तर भारत से एक वेस्टर्न डिस्टरबेंस गुजर रहा है, इसकी वजह से तापमान में गिरावट देखने को मिल रही है। अगले कुछ दिनों तक मौसम में बदलाव की संभावना नहीं है। वहीं, दूसरे सप्ताह में चक्रवात का भी असर देखने को मिल सकता है। महीने के मध्य में गरज-चमक के साथ बारिश की भी संभावना है। इसके बाद ठंड में और बढ़ोतरी हो सकती है।

10 जिलों में मावठा का पूर्वानुमान

मौसम विभाग ने मध्यप्रदेश के करीब 10 जिलों में मावठा का पूर्वानुमान जताया है। अभी मध्यप्रदेश में दिन का पारा 25 से 29 डिग्री सेल्सियस के बीच चल रहा है। अगले एक सप्ताह के दौरान रात का पारा तो ज्यादा नहीं गिरेगा, लेकिन दिन के तापमान में गिरावट दर्ज की जा सकती है। बारिश होने से इंदौर को छोड़कर अधिकांश इलाकों में दिन का अधिकतम पारा 20 डिग्री सेल्सियस या उससे कम हो सकता है। इंदौर में यह 25 से 28 डिग्री सेल्सियस के बीच रह सकता है।

इन जिलों में गिर सकता है मावठा

12 दिसंबर की रात से बड़वानी, बैतूल, इटारसी, भोपाल, इंदौर, सागर, रीवा, छिंदवाड़ा और शहडोल में हल्के बादल रह सकते हैं। बूंदाबांदी के आसार भी हैं। 13 दिसंबर की रात रीवा, सागर, भोपाल, बड़वानी, छिंदवाड़ा, इटारसी, दमोह और उमरिया में हल्की बारिश हो सकती है। इसी दिन शाम तक बड़वानी, इंदौर, भोपाल, सागर, रीवा, सिंगरौली, बैतूल और खंडवा में बादल छाने से बूंदाबांदी होने की संभावना है। 14 दिसंबर को बादल छटने से तापमान में गिरावट दर्ज की जा सकती है। 15 दिसंबर तक मध्यप्रदेश में हल्के से मध्यम बादल छाए रह सकते हैं।

Also Read – Petrol-Diesel Price Today महानगरों में आज क्या है पेट्रोल का रेट, तेल की कीमतों पर जानें अपडेट

इस कारण बढ़ रही है ठंड

मौसम वैज्ञानिक वेद प्रकाश सिंह ने बताया कि वातावरण कुछ दिनों तक शुष्क रहेगा। जैसे- जैसे ठंड बढ़ती जा रही है, दिन और रात के तापमान में भी बदलाव आने लगा है। सर्दी का मौसम प्रदेश को प्रभावित करेगा। मध्यप्रदेश के लगभग सभी जिलों में न्यूनतम 10 डिग्री सेल्सियस तक तापमान जाएगा। जानकारी के अनुसार हवाओं की दिशा दक्षिण-पश्चिम है। मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार पहाड़ों पर बर्फबारी के कारण मौसम भी बदल गया है और ठंड प्रदेश में महसूस होने लगी है।