Homeदेशमध्य प्रदेशMP: चुनाव को लेकर कांग्रेस की तैयारी तेज, कमलनाथ ने उठाये चरम...

MP: चुनाव को लेकर कांग्रेस की तैयारी तेज, कमलनाथ ने उठाये चरम मुद्दे

आज कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और मध्यप्रदेश के पूर्व सीएम कमलनाथ ने जन संबोधन किया। उन्होंने कहा कि, मध्यप्रदेश की खंडवा लोकसभा सीट और तीन विधानसभा सीटों जोबट, पृथ्वीपुर और रैगाँव के लिए 30 अक्टूबर को मतदान होना है। आपको अपना वोट देने से पहले देश और प्रदेश के आज के हालातों पर जरूर विचार करना चाहिये। यह चुनाव ऐसे समय हो रहा है जब हम कोरोना महामारी का खौफनाक समय देख चुके हैं । ईलाज के अभाव में हमने अपनों को अस्पताल की चौखटों पर दम तोड़ते हुये देखा है और सरकार की व्यवस्था फेल थी । अब घोषणा के बाद भी आज तक एक भी पीड़ित परिवार को मुआवजा नहीं मिला।

गौरतलब है कि, मध्यप्रदेश में चुनाव ऐसे समय हो रहा है जब पेट्रोल 120 रूपए, डीज़ल 110 रूपए और रसोई गैस 1000 रुपये छूने जा रही है। साथ ही कमलनाथ ने कहा कि, यह चुनाव ऐसे समय हो रहा है जब दाल, सब्जी और खाने के तेल की कीमतें आसमान छू रही हैं और मंहगाई से हर वर्ग परेशान है । यह चुनाव ऐसे समय हो रहा है जब कर्जमाफी बंद पड़ी है, फसल बीमा मिल नहीं रहा, किसान खाद के लिए भटक रहा है और शिवराज सरकार किसानों पर लाठियां चला रही है।

उन्होंने कहा कि, यह चुनाव ऐसे समय हो रहा है जब प्रदेश में बेरोजगारी चरम पर है और मेरे युवा साथी जब रोजगार मांगने आते हैं तो शिवराज सरकार उन पर भी लाठियां बरसा रही है। यह चुनाव ऐसे समय हो रहा है जब मध्यप्रदेश में बिजली संकट और बिल वसूली से हाहाकार मचा हुआ है। प्रदेश में सड़कों के हालात आप सभी को पता है। यह चुनाव ऐसे समय हो रहा है जब आदिवासियों के उत्पीड़न मामले में मध्यप्रदेश देश में नंबर वन बन चुका है। मध्यप्रदेश में महिलाओं और बच्चों के विरुद्ध अपराध चरम पर है। हमारे प्रदेश की बहन-बेटियॉं रोज शिवराज सरकार के जंगलराज का शिकार हो रही हैं।

उन्होंने कहा कि, ये हमारे प्रदेश की कैसी पहचान बन रही है ? मैंने मध्यप्रदेश में हजारों गौशालाऐं बनवाकर गौमाता की रक्षा का संकल्प लिया था, अब बीजेपी सरकार गौ माता को भोजन तक नहीं दे पा रही है। कुपोषण ने अब मध्यप्रदेश के हर जिले को अपनी चपेट में ले लिया है। भूखा बचपन हमें शर्मसार कर रहा है। यह चुनाव महंगाई, बेरोजगारी, भुखमरी और जंगलराज पर पलटवार करने का चुनाव है। साथ ही पेट्रोल को निशाना बनाते हुए कमलनाथ बोले भारत में पेट्रोल के दाम को 70 रूपए पहुँचने में लगभग 70 साल लगे, लेकिन बीजेपी सरकार ने केवल 7 साल में इसे 70 से 120 रुपये पहुंचा दिया। आज खेतों में ट्रेक्‍टर की जगह हल, बैल और बैलगाड़ी का उपयोग फिर से होने लगा है । क्या यह विकास है ?

पूर्व सीएम ने कहा कि, आज कल ” अच्छे दिनों ” की बात नहीं होती….. कांग्रेस सरकार के समय जब रसोई गैस 350 में मिलती थी तो उन दिनों को बुरा दिन बताने वाले भाजपाई आज चुपचाप घर में बैठे हैं । आज माताऐं, बहनें फिर से चूल्हे पर खाना बनाने को मजबूर हो गई है। मैं देश नहीं बिकने दूंगा से शुरू हुआ मोदी सरकार का सफर आज देश में कुछ नही बचने दूंगा की राह पर चल पड़ा है। मोदी जी पूछते हैं कि कांग्रेस ने 70 सालों में क्या किया…. आज पूरा देश जानता है कि मोदी सरकार जिन कम्पनियों को बेच रही है यह सभी सरकारी कम्पनियॉं कांग्रेस ने ही खड़ी की थी।

कमलनाथ ने कहा कि, मैं प्रदेश के युवाओं को बताना चाहता हूँ कि आज मध्यप्रदेश में 30 लाख से अधिक पंजीकृत बेरोजगार युवा हैं और सरकार ने उन्हें रोजगार देने के सारे रास्ते बंद कर रखे हैं । अब सरकार सारी कम्पनियाँ बेचकर रोजगार के अवसरों को लगातार कम कर रही है । युवा साथियों को बीजेपी सरकार की इस चाल को समझना होगा। प्रदेश में भाजपा की सरकार को 17 साल हो गये है और शिवराज जी को मुख्यमंत्री बने 15 साल…आपने कभी सोचा है कि इन 17 सालों से हमारा प्रदेश किस तरफ जा रहा है..?
शिवराज सरकार के 15 सालों में हम बेरोजगारी में नंबर 1, किसान आत्महत्या में नंबर 1, दुष्कर्म में नंबर 1, कुपोषण में नंबर 1, बच्चों के लापता होने में नंबर 1, घोटालों में नंबर 1, कर्ज में नंबर 1 हो गए हैं…..इसका सीधा मतलब है कि प्रदेश की गाड़ी का स्टेरिंग संभाल रहे शिवराज प्रदेश को रिवर्स ग़ैर में पीछे ले जा रहे हैं।

कमलनाथ बोले प्रदेश को आगे बढाने के लिए विजन चाहिए…. भाजपा सरकार के 17 सालों में कोई विजन नहीं दिखा … मैं 15 महीनों की सरकार के काम बताकर आपसे समर्थन मांगता हूँ, पर 15 साल के मुख्यमंत्री के पास गिनाने के लिए कोई काम नहीं है….. प्रदेश को बताने के लिए कोई विजन नहीं है। शिवराज जी के इन 15 सालों का हासिल सिर्फ व्यापमं,ई-टेंडर , पुलिस भर्ती जैसे बड़े-बड़े घोटालें हैं और हजारों घोषणाऍ हैं जो कभी पूरी नहीं होंगी।

उन्होंने कहा कि, आज आप घर से निकलो तो सबसे पहले गड्ढों वाली सड़क मिलती है, फिर मोटर सायकल में पेट्रोल डलाने जाओ तो 118 रूपए लीटर का पेट्रोल डराता है, फिर किसी दफ्तर में काम के लिए जाओ तो भ्रष्टाचार से सामना होता है, फिर कहीं खाना खाने बैठो तो महंगा और मिलावटी खाना आपको रुलाता है, डॉक्टर के पास जाओ तो व्यापम की याद आती है, रात को घर पहुँचो तो बिजली गुल… मिलती है और घर का अँधेरा बता देता है कि शिवराज का जंगलराज कहाँ तक पहुँच चुका है। प्रदेश के ये हालात आज हैं ।

कमलनाथ ने आगे कहा कि, चुनाव में आपका वोट ही सरकार की आँखे खोल सकता है। आपको इस बार के वोट से बताना है कि हम कोरोना की मौतों से दुखी हैं, आपको बताना है कि हम बेरोजगारी से परेशान हैं, आपको बताना है कि महंगाई आपको जीने नहीं दे रही है, आपको बताना है कि आपको अच्छी सड़क, 24 घंटे बिजली, अच्छी स्वास्थ्य सुविधाएँ चाहिए। आपको अपने वोट की ताकत का एहसास इस भाजपा सरकार को कराना है ।

साथ ही उन्होंने कहा कि, मैं आज मध्य प्रदेश की जनता को एक नारा देता हूँ….”बहुत सह लिया अत्याचार, अबकी बार, जनता का पलटवार” आज मैं मध्यप्रदेश की जनता से अपील करता हूँ कि आप सच्चाई को पहचानिये। आने वाली 30 अक्टूबर को पंजे का बटन दबाकर कांग्रेस प्रत्याशी को अपना समर्थन दें।

RELATED ARTICLES

Stay Connected

9,992FansLike
10,230FollowersFollow
70,000SubscribersSubscribe

Most Popular