more

25 मई से होगी नौतपा की शुरुआत, इस बार कुछ अलग होगा प्रभाव

मानसून आने से पहले एक समय ऐसा भी बाता है जब सूर्य के तेज अपने चरम पर होता है। हिंदू धार्मिक मान्यताओं के अनुसार इस समय को नौतपा कहते हैं। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार सूर्य देव 25 मई को रोहिणी नक्षत्र में प्रवेश कर जाएंगे। जिसके साथ ही नौतपा का प्रारंभ हो जाएगा। बता दें कि नौतपा 14 दिन तक रहता है।

summer-

माना जाता है कि इन दिनों में सूर्य का तेज अपने चरम पर होता है जिस कारण गर्मी का प्रकोप भी बढ़ जाता है। अनुभवी ज्योतिषियों के अनुसार 25 मई को सुबह 8.16 बजे सूर्यदेव रोहिणी नक्षत्र में प्रवेश करेंगे। इसके बाद वे यहां 3 जून तक रहेंगे। सूर्य जब रोहिणी नक्षत्र में और वृष राशि के 10 अंश से 20 अंश तक रहता है तब नौतपा पड़ता हैं।

astrology

आंधी-तूफान के साथ वर्षा होने के भी योग

सूर्य रोहिणी नक्षत्र में 14 दिनों तक रहते हैं। इन चैदह दिनों में से 9 दिन ऐसे हैं जब पृथ्वी को सूर्य विशेष रूप से तवे के समान तपाता है। वहीं ज्योतिषियों के अनुमान के अनुसार इस बार नौतपा विशेष रूप से नहीं तपेंगे क्योंकि इस बार आंधी-तूफान के साथ वर्षा होने के योग बन रहे हैं। 31 मई को शुक्र पश्चिम दिशा में अस्त होंगे और सूर्य के साथ चलेंगे।

cyclone amphan

45 डिग्री से ज्यादा नहीं होगा तापमान 

इस दौरान सूर्य देव की तपन प्रभावित होगी। जिसे देखते हुए ज्योतिषियों का अनुमान है कि तापमान 45 डिग्री से ज्यादा नहीं जाएगा। क्योंकि 31 मई को वक्री शुक्र अपनी ही राशि में अस्त होंगे, जिससे बूंदाबांदी के योग निर्मित होंगे। 22 जून को सूर्य के आद्रा नक्षत्र में प्रवेश करने के साथ मानसून शुरू हो जाएगा।