Breaking News

पौधारोपण और सीड बॉल से दिया पर्यावरण बचाने का संदेश

Posted on: 13 Jul 2019 18:50 by Surbhi Bhawsar
पौधारोपण और सीड बॉल से दिया पर्यावरण बचाने का संदेश

इंदौर: पर्यावरण संरक्षण करने के उद्देश्य से माउंट लिट्रा ज़ी स्कूल इंदौर द्वारा “ग्रीन ड्राइव” अभियान का आयोजन किया गया। विद्यार्थियों ने माउंट लिट्रा ज़ी स्कूल इंदौर के मैदान में मिट्टी, रेत, खाद, पानी और आम, जामुन के बीजों की मदद से सीड बॉल बनाए। इस अभियान के तहत स्कूल के छात्रों ने संयुक्त रूप से इस बारिश के मौसम में पुंजापुरा बीट, रेंज बागली, बरझाई जाकर सड़क के किनारे थोड़ी – थोड़ी दूर पर सीड बॉल बिखेर दिए ताकि बारिश के मौसम की नमी से बीज अंकुरित होकर पेड़ का रूप ले और साथ ही पौधा रोपण भी किया। इस अभियान में विद्यार्थियों का उत्साह देखने लायक था।

सभी विद्यार्थियों को सीड बॉल देकर उनकी देखभाल की जिम्मेदारी भी दी। साथ ही खेल खेल में पर्यावरण को संरक्षित करने के उद्देश्य से स्टूडेंट्स को सीड बॉल बनाना भी सिखाया गया।

माउंट लिट्रा ज़ी स्कूल इंदौर की उप प्राचार्या सुश्री नलिनी चौहान ने अपने उद्बोधन में पर्यावरण संरक्षण और संतुलन को बनाए रखने की शिक्षा दी। उन्होंने कहा, “ग्रीन ड्राइव अभियान माउंट लिट्रा ज़ी स्कूल इंदौर द्वारा पर्यावरण संरक्षण के लिए हमारी एक पहल है। कुदरत ने हमें बहुत कुछ दिया है और अब वक्त आ गया है कि हम उसे बचाने के लिए कुछ करें। विश्व में बढ़ते विकास ने हरियाली को कम कर दिया है। इससे ग्लोबल वार्मिंग, जलवायु परिवर्तन जैसी चुनौतियां सामने आने लगी हैं। हमारा प्रयास है कि हम पृथ्वी को वापस हरा-भरा बनाएं ताकि आने वाली पीढ़ियों को पृथ्वी रहने लायक अवस्था में मिले।

उन्होंने आगे कहा “हम आशा करते हैं कि इन सीड-बॉल्स का एक बड़ा हिस्सा पौधों और फिर पेड़ों में तब्दील हो जिससे हमारे क्षेत्र में हरियाली बढ़े। इस अभियान द्वारा पर्यावरण का संरक्षण होने के साथ जागरूकता भी बढ़ेगी।”

इंडेक्स मेडिकल कॉलेज के डीन श्री एस.एन. होल्कर, श्री आर. सी. यादव, एडिशनल डायरेक्टर, इंडेक्स मेडिकल कॉलेज और माउंट लिट्रा ज़ी स्कूल इंदौर के सीईओ श्री रूपेश वर्मा भी इस मौके पर उपस्थित थे।

लायंस क्लब ऑफ इंदौर अहिल्या ने नीम, पीपल इत्यादि पौधों के पांच हजार बीजों को बोने की पहल की थी ताकि आसपास की हरियाली को बढ़ाया जा सके और जिससे प्रदूषण का स्तर कम हो सके।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com