Indore: फोटो खिंचवाना अपराध नहीं, पुलिस अपना काम करे: वन मंत्री

इंदौर। इंदौर के विजयनगर (Indore) में स्पा सेंटर पर थाईलैंड की 10 लड़कियों के साथ 8 ग्राहकों में 3 खंडवा के खालवा मंडल के भाजपा युवा मोर्चा के पदाधिकारियों से कथित करीबी संबंध रखने वाले लोग थे। वहीं अब इस मामले में मप्र सरकार के वन मंत्री कुंवर विजय शाह ने अपना पक्ष रखा है। इस मामले में मंत्री विजय शाह ने सोशल मीडिया के जरिए कहा कि, हमलोग सार्वजनिक जीवन में जब काम करते हैं, तो अगर कोई फोटो ले रहा है तो हम मना नहीं कर सकते। अगर कोई गलत काम कर रहा है, गैर कानूनी काम कर रहा है, जैसा इन युवकों ने किया है, तो हम कोई उन्हें बचाने तो नहीं जा रहे हैं। कानून और पुलिस अपने हिसाब से काम करें।

ALSO READ: त्रैमासिक, छमाही, प्री बोर्ड एवं मुख्य परीक्षा के अंकों की हो Online एंट्री

मंत्री शाह ने आरोपियों के साथ करीबी संबंधों को लेकर मीडिया में चल रही खबरों के बारे में कहा कि, इंदौर के इलेक्ट्रॉनिक मीडिया ने जिस तरह से मेरे फोटो का उपयोग किया है, उस पर मैं यह कहना चाहता हूं कि मेरे फोटो का हवाला दिया गया है, लेकिन राजनीति संबंध होने से कोई करीबी नहीं हो जाता। राजनीतिक संबंध अपनी जगह है और व्यक्तिगत संबंध अपनी जगह है। युवक मेरे क्षेत्र के हैं और अगर उन्होंने कोई गलत कार्य किया है, अनैतिक कार्य किया है, तो वो भुगतेंगे। कानून अपना काम करेगा।

इसके साथ ही आरोपियों के साथ फोटो होने की बात पर मंत्री शाह ने कहा कि किसी भी राजनीतिक दल के विधायक या मंत्री का किसी राजनीतिक कार्यकर्ता के साथ फोटो होना, सेल्फी होना या उसके साथ किसी गाड़ी में बैठना कोई अपराध नहीं है। अगर किसी ने अपराध किया है तो पुलिस अपना काम करने के लिए स्वतंत्र है। उल्लेखनीय है कि, इस मामले में इंदौर पुलिस ने बताया कि, सेक्स रैकेट मामले में खंडवा के तीन युवकों गिरफ्तार किया था। इनमें वरुण यादव, विवेक नामदेव और अशोक सिंगला शामिल थे। ये तीनों युवक भाजपा के पदाधिकारी हैं।

पुलिस ने बताया था कि, वरुण यादव युवा मोर्चा खालवा मंडल में उपाध्यक्ष और विवेक नामदेव महामंत्री के पद पर हैं। अशोक सिंगला भाजपा का कार्यकर्ता है और ढाबा संचालक है। प्रदेश सरकार में वन मंत्री विजय शाह इसी क्षेत्र से विधायक हैं। मामला सामने आया तो कई लोगों ने मंत्री और उनके बेटे दिव्यादित्य के साथ आरोपियों के फोटो भी सोशल मीडिया पर शेयर किए है।