इंदौर (Indore News) : देश में अपनी तरह की सबसे प्रभावी व अनूठी इंदौर स्थित पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण की स्मार्ट मीटर सेल ने वर्ष 2021 में देश के अलग, अलग राज्यों, संस्थाओं, बिजली बोर्ड, पदाधिकारियों को स्मार्ट मीटर संबंधी जानकारी देकर सफलता के गुर सिखाए है।

मप्र पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी इंदौर के प्रबंध निदेशक श्री अमित तोमर ने बताया कि स्मार्ट मीटर सेल मुख्य अभियंता श्री एसआर बमनके, अधीक्षण अभियंता श्री डीएस चौहान, कंट्रोल सेंटर प्रभारी श्री नवीन गुप्ता आदि की मौजूदगी में कार्य करती है। रेडियो फ्रिक्वेंसी पद्धति के स्मार्ट मीटर का प्रयोग इंदौर में ही सर्वप्रथम एवं सफलतापूर्वक हुआ है।

अब तक इंदौर व समीपी शहरों में 2.35 लाख रेडियो फ्रिक्वेंसी स्मार्ट मीटर लगाए जा चुके है, इसलिए देशभर से स्मार्ट मीटर के बारे में जानकारी लेने, सफलता के टिप्स जानने के लिए बिजली संबंधी संस्थाएं, ऊर्जा विभाग, बिजली बोर्ड, डिस्काम इंदौर स्थित पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी से सतत संपर्क करती है। प्रबंध निदेशक श्री तोमर ने बताया कि बीते वर्ष ऊर्जामंत्री, केंद्रीय विद्युत अनुसंधान संस्था भोपाल, अभा स्मार्ट ग्रिड फोरम दिल्ली , पूर्व क्षेत्र कंपनी जबलपुर, हिमाचल ऊर्जा विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव, मप्र ऊर्जा विभाग के मंथन की टीम, पावर फाइनेंस कार्पोरेशन दिल्ली आदि ने स्मार्ट मीटर संबंधी जानकारी ली है।

इसके अलावा उत्तर हरियाणा विद्युत वितरण कंपनी, प्रमुख सचिव ऊर्जा, ग्रामीण विद्युतीकरण निगम भारत सरकार दिल्ली , मप्र विद्युत नियामक आयोग के अध्यक्ष, पावर लाइन की टीम, केंद्रीय ऊर्जा मंत्रालय के सचिव, मप्र के विभिन्न जिलों की टीम, मप्र विद्युत नियामक आयोग के सदस्य, अहमदाबाद के टोरेंट पावर टीम के सदस्यों, केंद्रीय विद्युत अनुसंधान संस्था नागपुर, केंद्रीय विद्युत अनुसंधान संस्था फरीदाबाद की टीम ने इंदौर के स्मार्ट मीटर संबंधी जानकारी ली है।

श्री तोमर ने बताया कि इंदौर की स्मार्ट मीटर टीम के सदस्यों द्वऱारा देशभर की इन संस्थाओं, पदाधिकारियों को स्मार्ट मीटर योजना, मीटर लगाने, एक तारीख को रीडिंग, बिलिंग, विभिन्न प्रकार की जानकारी लेने और अन्य उपभोक्ता सुविधाओं की जानकारी पावर पाइंट प्रजेंटेशन व अन्य तरीकों से दी जाती है। इंदौर शहर में शत प्रतिशत स्मार्ट मीटर वाले फीडरों, कालोनियों, मोहल्लों की विजिट भी कराई जाती है।