इंदौर। पुलिस आयुक्त नगरीय इंदौर हरिनारायणचारी मिश्र व्दारा इंदौर कमिश्नरेट में लोगों से छलकपट कर अवैध लाभ अर्जित करते हुये आर्थिक ठगी करने वाले एवं सोशल मीडिया पर फर्जी अकाउंट बनाकर अपातिजनक पोस्ट व हैकिंग करने वाले अपराधियों की पहचान कर विधिसंगत कार्यवाही करते हुये उनकी धरपकड़ करने हेतु प्रभावी कार्यवाही के निर्देश दिए गए हैं। उक्त निर्देशों के अनुक्रम में अतिरिक्त पुलिस आयुक्त राजेश हिंगणकर के मार्गदर्शन में पुलिस उपायुक्त निमिष अग्रवाल एवं अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त, गुरू प्रसाद पाराशर द्वारा ऑनलाईन ठगी एवं सोशल मीडिया संबंधी अपराधो की रोकथाम हेतु क्राइम ब्रांच फ्रॉड इन्वेस्टिगेशन टीमों को लगाया गया है ।

इसी अनुक्रम में फरियादी के द्वारा कार्ययालय अपराध शाखा में शिकायत की गई थी, जिसमे फरियादी और उसके परिवारजनों को कई अंजान नंबरों से अज्ञात व्यक्ति द्वारा अश्लील कॉल कर परेशान किया जा रहा था। जिस पर क्राईम ब्रांच इंदौर की सोशल मीडिया टीम द्वारा शिकायत जांच में फरियादी को अश्लील कॉल करने वाले अज्ञात आरोपी एवं मोबाइल ऐप की पूरी जानकारी निकलते हुए आरोपी (1). करण पिता सतीश मौर्य निवासी 69/2 बियाबानी केला माता मंदिर के पास, छत्रीपुरा, इंदौर के द्वारा कॉल कर परेशान किया जाना पाया।

Also Read: Rajasthan Political Crisis: राजस्थान में एक बार फिर संकट में कांग्रेस सरकार, क्या पायलट रह जाएंगे फिर खाली हाथ 

आरोपी करण से पूछताछ करते बताया की उसके द्वारा मोबाईल ऐप के माध्यम से इंटरनेशनल नंबर प्राप्त कर, अपनी पहचान को छुपाते हुए फरियादी और उसके परिजन को कॉल पर परेशान किया जा रहा था। क्राइम ब्रांच इंदौर की शिकायत जांच पर आरोपी के विरुद्ध थाना छत्रीपुरा पर अपराध पंजीबद्ध कर अग्रिम वैधानिक कार्यवाही की गई।