इंदौर : आज शाम को होने वाले शपथ समारोह में नहीं शामिल होंगे सीएम शिवराज, वीडी शर्मा का भी भरोसा नहीं

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान आज शाम को मेयर पुष्यमित्र भार्गव और पार्षदों की होने वाली शपथ विधि में समारोह में नहीं आ रहे हैं।

इंदौर(Indore) : मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान आज शाम को मेयर पुष्यमित्र भार्गव और पार्षदों की होने वाली शपथ विधि में समारोह में नहीं आ रहे हैं। प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा के आने का भी भरोसा नहीं है। पहली बार ऐसा होगा कि मेयर के शपथ विधि समारोह में मुख्यमंत्री नहीं आएंगे। पिछली बार जब मालिनी गौड़ मेयर बनी थी। तब गांधी हाल में आयोजित समारोह में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान आए थे। इस बार उनके नहीं आने का कारण यह बताया जा रहा है कि यदि वह किसी एक शहर के मेयर के शपथ विधि समारोह में जाएंगे तो उन्हें सभी मेयर के शपथ विधि समारोह में जाना पड़ेगा। मुख्यमंत्री के नजदीकी बताते हैं कि समय की कमी के चलते ऐसा किया गया है। सवाल इस बात का उठता है कि शिवराज के पास आखिर समय की इतनी कमी कैसे आ गई। वैसे तो शिवराज सिंह हर कार्यक्रम को बड़े पैमाने पर करने के पक्षधर रहते हैं। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष वीडी शर्मा भी नहीं आ पाएंगे, क्योंकि उनके आने का अभी तक कोई कार्यक्रम पार्टी के पास नहीं आया है। स्थानीय स्तर पर ही नेताओं की मौजूदगी में मेयर शपथ ले लेंगे। एक पार्षद को दो सौ लोग लाने के लिए कहा जबकि इतनी जगह वहा नहीं है। अभय प्रशाल में हाल में बमुश्किल बारह सौ कुर्सियां लगी है, क्योंकि मंच इतना बड़ा बन गया है कि वहां पर जगह नहीं है।

Read More : अब दीपिका पादुकोण इस साउथ सुपरस्टार संग आएंगी नजर! हाथ लगी ये बड़ी फिल्म

इसके अलावा गैलरी में साढ़े तीन हज़ार हजार से ज्यादा लोग नहीं बैठ सकते हैं। अब भाजपा के 64 पार्षद दो दो सौ लोग लेकर आने को कहा है। जबकि वहां पर इतने लोगों के बैठने की जगह नहीं है। हाल में विधानसभा वार बैठने की व्यवस्था की गई है। विधानसभा एक और दो के कार्यकर्ता टावर ए, 3 और 4 के कार्यकर्ता टावर बी, 5 नंबर सांवेर देपालपुर और राऊ के कार्यकर्ताओं के लिए टावर सी की तरफ से गैलरी में बैठने की व्यवस्था की गई है।

हाल में बड़े नेताओं के अलावा सामाजिक, व्यापारिक, सांस्कृतिक संगठन के पदाधिकारियों के साथ ही बुद्धिजीवियो को न्योता दिया गया है। सिर्फ हाल में बैठने के लिए ही प्रवेश पत्र बने हैं। गैलरी में आकर कोई भी बैठ सकता है। सबसे बड़ी बात यह है कि संगठन स्तर पर मेयर चुनाव से लेकर शपथ विधि समारोह तक एक भी कोर कमेटी की बैठक नहीं हो पाई। जिस तरह से विधायकों ने दूरी बनाई है। उसको लेकर कई तरह की बातें कही जा रही है। नगर अध्यक्ष गौरव रणदिवे जरूर मेयर के साथ मिलकर शपथ विधि समारोह की तैयारियां कर रहे हैं। बाकी सारे नेता दूर है।

Read More : MP News : स्वास्थ्य एवं पोषण के क्षेत्र में बड़वानी को मिला पहला स्थान, जिले में हुए कार्यों की हुई सराहना

एमआईसी सदस्यों को लेकर विधायकों में पार्षद टिकट को लेकर जिस तरह से झगड़े हुए थे। उसी तरह के विवाद होने की पूरी संभावना है। सभी विधायक अपने अपने समर्थकों को एमआईसी में सदस्य बनाना चाहते हैं। सांसद शंकर लालवानी भी अपने समर्थकों को एमआईसी में लाना चाहते हैं। संभागीय संगठन मंत्री का पद समाप्त होने के बाद से ही पार्टी का संगठन का ढांचा लगातार कमजोर होता जा रहा है।

कचोरी और मक्खन बड़े खाएंगे कार्यकर्ता

शपथ समारोह में आने वाले कार्यकर्ताओं के लिए भोजन का इंतजाम नहीं किया गया है। सिर्फ नाश्ता रहेगा। लगभग 6000 नाश्ते के पैकेट तैयार किए हैं। जिसमें कचोरी, आलू की चिप्स, मक्खन बड़े और बूंदी के लड्डू रहेंगे। समारोह समाप्त होने के बाद गेट से नाश्ते के पैकेट बांटे जाएंगे। मेयर पुष्यमित्र भार्गव की तरफ से कल अभय प्रशाल में सारी व्यवस्थाओं को देखने के लिए पूर्व पार्षद भरत पारीख और पार्षद बबलू शर्मा पहुंचे थे, लेकिन पार्टी की तरफ से कोई भी नेता वहां अभी तक व्यवस्था देखने नहीं पहुंचा।

पहली बार किसी का नाम नहीं

पहली बार शपथ समारोह के निमंत्रण पत्र में किसी भी सांसद विधायक का भी नाम नहीं है। मुख्यमंत्री के आने का दावा किया जा रहा था, लेकिन उनका भी नाम कार्ड में नहीं है वैसे शिवराज नहीं आ रहे हैं।