इंदौर। शुक्रवार–शनिवार की मध्य रात्रि मौसम में भारी बदलाव देखा गया। लगभग तीन बजे बिजली की सर्वाधिक गरज–चमक की स्थिति बनी। आकाशीय बिजली के कारण शहर में पांच बिजली वितरण ट्रांसफार्मर खराब हुए। इन्हें कम से कम समय में बदला गया। पालदा ग्रिड में आसपास से यकायक पानी आने पर सुरक्षा कारणों से दो से तीन घंटे बिजली बंद रखना पड़ी, सुबह 6.30 पर यहां भी स्थिति सामान्य हो गई।

Must Read- अब स्वच्छता में सिक्सर लगाने को तैयार इंदौर, आने वाली है फाइनल रिपोर्ट

शहर अधीक्षण यंत्री मनोज शर्मा ने बताया कि कुछ फीडर सुरक्षा कारणों से बंद किए गए, जबकि 11 केवी के 500 फीडरों में से 20 फीडर अलग–अलग समय फाल्ट हुए, जिन्हें आधा घंटे से लेकर डेढ़ घंटे की अवधि में ठीक कर लिया गया। ऊर्जस एप के माध्यम से भी शहर के 500 उपभोक्ताओं की शिकायतों का समाधान किया गया। मप्र पश्चिम क्षेत्र बिजली वितरण कंपनी के प्रबंध निदेशक अमित तोमर ने भी इस दौरान चार बार जानकारी ली और सुधार कार्य के लिए कर्मचारियों–अधिकारियों को निर्देशित किया।