इन्दौर। ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट (Global Investors Summit) में थाईलैंड की 1968 में स्थापित पहली प्राइवेट यूनिवर्सिटी DPU की भारतीय प्रतिनिधि प्रतिभा राठौड़ (Pratibha Rathore) उच्च शिक्षा के क्षेत्र में मध्य प्रदेश शासन के साथ एमओयू हस्ताक्षर करना चाहती है।  राठौर का प्रस्ताव उच्च शिक्षा विभाग को भेजा गया था जिस पर शासन समीक्षा कर रही है तथा निजी विश्वविधालय नियामक आयोग भी विचार कर रहा है।

प्रतिभा राठौर ने ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट के पहले दिन पत्रकारों को बताया कि भारत के मध्यम वर्ग के छात्र विदेशों में उच्च शिक्षा से वंचित हो जाते हैं, इस समस्या को दूर करने के लिए कालेजों में अध्ययनरत छात्र स्नातक प्रथम वर्ष एवम द्वितीय वर्ष पूरा करने के बाद तृतीय वर्ष थाईलैंड से एवं चतुर्थ वर्ष इंग्लैंड से पूरा करके उन्हें इंग्लैंड की उपाधि प्राप्त होगी ,जिसके आधार पर उन्हें इंग्लैंड में वर्क परमिट मिलेगा।

तृतीय वर्ष थाईलैंड में रहने के दौरान उन्हें इंटरनेशनल इंडस्ट्रियल एक्स्पोज़र एवम इंटरनेशनल इंटर्नशिप की सुविधा प्राप्त होगी। इसके लिए हमारे द्वारा मध्यप्रदेश के 15 निजी विश्वविद्यालयों को प्रस्ताव भेजे गए हैं एक प्रस्ताव प्रमुख सचिव उच्च शिक्षा मध्यप्रदेश शासन को भी भेजा गया है ताकि शासकीय कॉलेजों में पढ़ रहे छात्र भी इस योजना का लाभ उठाएं। इस अवसर पर विश्वविद्यालय की रिसर्च विंग के डा विजय साल्विया एवं विश्वविद्यालय के एकेडमिक सलाहकार नीरज राठौर भी उपस्थित रहेंगे।

Source : PR 

Also Read: इंदौर में आज से Global Investors Summit, प्रधानमंत्री वर्चुअली करेंगे शुभारंभ, 90 से ज्यादा बड़े उद्योगपति शामिल होंगे